शामली : मुठभेड़ में घायल पुलिसकर्मी अंकित तोमर शहीद

शामली : मुठभेड़ में घायल पुलिसकर्मी अंकित तोमर शहीदशहीद कांस्टेबल अंकित तोमर।

लखनऊ। तीन जनवरी को शामली जिले के जनधेदी गांव के पास बदमाशों से हुई मुठभेड़ में घायल यूपी पुलिस के कॉन्स्टेबल अंकित तोमर बुधवार को इलाज के दौरान शहीद हो गये। इससे पूर्व मुठभेड़ के दौरान गोली लगने से घायल अंकित को नोएडा के फोर्टिस अस्पताल में दाखिल कराया गया था।

अंकित मूल रूप से पश्चिम यूपी के बागपत जिले के निवासी थे और वर्तमान में कैराना में तैनात थे। मंगलवार देर रात शामली के कैराना में जिस पुलिस टीम ने एक लाख के इनामी बदमाश साबिर जंधेड़ी को मार गिराया था, अंकित उसी टीम के सदस्य थे। इस मुठभेड़ के दौरान बदमाशों की फायरिंग में अंकित गंभीर रूप से घायल हुए थे जिसके बाद नोएडा के फोर्टिस अस्पताल में उनका इलाज किया जा रहा था।

डीएम ने सिपाही के इलाज के लिए बनाया पैनल

डीएम बीएन सिंह ने मुठभेड़ में घायल सिपाही को बेहतर उपचार दिलाने के लिए तीन डॉक्टरों का पैनल बनाया है। डॉक्टर का पैनल जिला प्रशासन व उनके परिजनों से अंकित की हालत को लेकर डिस्कस कर रहे हैं। जिला अधिकारी खुद पैनल में शामिल डॉक्टर्स से पल-पल की रिपोर्ट ले रहे हैं।

ये भी पढ़ें- डिजिटल इंडिया के तहत यूपी पुलिस एफआईआर कॉपी अपलोड करने में पीछे

ऐसे हुआ था मुठभेड़

मंगलवार देर रात कैराना कोतवाली पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि एक लाख रुपए का इनामी बदमाश साबिर अपने गांव जंधेड़ी में घर में ही मौजूद है। सूचना मिलते ही इंस्पेक्टर कैराना भगवत सिंह ने पुलिस टीम के साथ गांव पहुंचकर साबिर के मकान की घेराबंदी कर ली। इस दौरान साबिर अपने आपको घिरता देख पुलिस पर हमला बोलते हुए अंधाधुंध फायरिंग करनी शुरू कर दी।

इसके बाद पुलिस ने भी जवाबी फायरिंग की। फायरिंग में कोतवाल कैराना भगत सिंह और पुलिसकर्मी अंकित तोमर गोली लगने से गंभीर रूप से घायल हो गए। इस दौरान पुलिस में हड़कंप मच गया और आसपास के थानों की फोर्स बुलाकर पुलिस ने ताबड़तोड़ गोलियां साबिर पर बरसा कर उसे ढेर कर दिया। बदमाश साबिर पर पश्चिम उत्तर प्रदेश के विभिन्न थानों में लूट, हत्या व रंगदारी के तीन दर्जन से भी ज्यादा मामले दर्ज हैं।

परिवार को मिलेगा 50 लाख का मुआवजा

गंभीर रूप से घायल अंकित को चिकित्सकों की तमाम कोशिशों के बाद भी नहीं बचाया जा सका और बुधवार देर शाम वह शहीद हो गये। अंकित की शहादत पर उत्तर प्रदेश पुलिस की ओर से उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की गई है। अंकित के परिवार के भरण पोषण के लिए सरकार के संशोधित नियमों द्वारा उनकी पत्नी को 40 लाख जबकि माता-पिता को 10 लाख रुपए की राशि मुआवजे के रूप में दी जाएगी।

Share it
Top