सोशल मीडिया पर टिप्पणी करने पर जेई के खिलाफ मुकदमा दर्ज

सोशल मीडिया पर टिप्पणी करने पर जेई के खिलाफ मुकदमा दर्जसोशल मीडिया के जरिए छवि खराब करने की कोशिश की।

लखनऊ। विद्युत सुरक्षा निदेशालय मिनिस्टीरियल एसोसिएशन के अध्यक्ष सुरेन्द्र कुमार श्रीवास्तव के खिलाफ इलाहाबाद मण्डल में पिछले 21 सालों से डटे जूनियर इंजीनियर ने सोशल मीडिया के माध्यम से छवि खराब करने की कोशिश की गई। सुरेन्द्र ने इस संबंध में इन्दिरा नगर थाने में आरोपी जेई के खिलाफ साक्ष्यों के आधार पर प्रतिनिधि मण्डल एसएसपी से मिला और एसएसपी के निर्देश पर इन्दिरा नगर थाने में जेई के खिलाफ नामजद एफआईआर दर्ज कराई है। पुलिस ने उक्त जेई के खिलाफ जान से मारने की धमकी और छवि खराब करने की धाराओं में मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

ये भी पढ़ें: यूपी में खुलेगें एक हजार जन औषधि केन्द्र

राज्य कर्मचारी महासंघ के अध्यक्ष सतीश कुमार पाण्डेय, महामंत्री रामराज दुबे,जवाहर भवन इन्दिरा भवन कर्मचारी महासंघ के महामंत्री सुशील कुमार बच्चा ने बताया कि, विद्युत सुरक्षा निदेशालय मिनिस्टीरियल एसोसिएशन के अध्यक्ष सुरेन्द्र कुमार श्रीवास्तव के नेतृत्व में 12 सूत्रीय मांगों को लेकर कई बार के पत्राचार किया। इसके बाद कार्यवाहक निदेशक की अध्यक्षता मेंएसोसिएशन के प्रतिनिधि मण्डल की वार्ता में कई मुद्दे उठे। मुददें एवं उक्त बैठक की कार्यवाही समाचार पत्रों में प्रकाशित होने से नाराज कार्यवाहक निदेशक ने अपने खास अवर अभियंता को एसोसिएशन के खिलाफ मोर्चा संभालने का इशारा किया गया।

इसके बाद पहले उक्त जेई ने मिनिस्टीरियल एसोसिएशन के अध्यक्ष सुरेन्द्र कुमार श्रीवास्तव को गुण्डा एवं उनके पदाधिकारियों को गुर्गे शब्दों का प्रयोग करते हुए पत्रचार किया गया। मिनिस्टीरियल एसोसिएशन के महामंत्री अरूण कुमार वाजपेई ने इसका लिखित मेंविरोध करते हुए उक्त जेई पर कार्रवाई के लिए कार्यवाहक निदेशक को पत्र लिखा। लेकिन कार्यवाहक निदेशक ने न तो कोई बात की न ही कोई कार्रवाई उनके द्वारा किया गया। इसके बाद जब उक्त जेई को कार्यवाहक निदेशक का पुनः इशारा मिला तो उसने जवाहर भवन इन्दिरा भवन कर्मचारी महासंघ, जिसका की घटक संघ विद्युत सुरक्षा मिनिस्टीरियल एसोसिएशन है के अध्यक्ष सतीश कुमार पाण्डेय, राम राज दुबे को भी गुण्डे एवं गुर्गे शब्द का प्रयोग करते हुए मुख्य सचिव, प्रमुख सचिव ऊर्जा एवं मुख्यमंत्री स्तर तक पत्राचार किया।

यह जानकारी मिलने पर महासंघ के अध्यक्ष सतीश कुमार पाण्डेय ने लिखित रूप से शिकायत करते हुए कार्यवाहक निदेशक को उक्त जेई के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की। लेकिन उस पत्र भी कोई कार्रवाई नहीं हुई। इतना सब होने के बाद भी जब कोई कार्रवाई नही हुई तो उक्त जेई ने सोशल मीडिया के माध्यम से मिनिस्टीरियल एसोसिएशन के अध्यक्ष सुरेन्द्र कुमार श्रीवास्तव के खिलाफ कोर्ट अवमानना करते हुए अनर्गल प्रलाप शुरू कर छवि बिगड़ने तथा धमकाने का काम शुरू कर दिया।

जब यह जानकारी महासंघ के पदाधिकारियों को हुई तो महासंघ पदाधिकारियों के कहने परमिनिस्टीरियल एसोसिएशन के अध्यक्ष सुरेन्द्र कुमार श्रीवास्तव ने उक्त जेई के नाम से इन्दिरा नगर थाने में एफआईआर दर्ज करा दी है। महासंघ ने इस मामले में पुनः उक्त जेई के निलम्बन कर कठोर कार्रवाई की मांग की है।

ये भी पढ़ें: पुलिस का राजनीतिक इस्तेमाल कर रही है योगी सरकार : अखिलेश

Share it
Share it
Share it
Top