बाल दिवस : अपने परिवार से लड़कर बहनों का स्कूल में कराया दाखिला

बाल दिवस : अपने परिवार से लड़कर बहनों का स्कूल में कराया दाखिलाराजापुर इंदौरा गाँव के कक्षा छह में पढ़ने वाले विपिन मीना मंच के सदस्य हैं

लखनऊ। घरवालों ने जब बेटियों को पांचवीं पास करने के बाद स्कूल जाने से मना कर दिया, तो विपिन (10 वर्ष) ने अपने माता-पिता से झगड़ा कर लिया। विपिन चाहता था कि उसकी बहनें भी उसी की तरह आगे पढ़ें। थोड़े दिन के झगड़े के बाद आखिरकार परिवार वालों को झुकते हुए विपिन की बात माननी ही पड़ी।

लखनऊ के बख्शी का तालाब ब्लॉक के पूर्व माध्यमिक विद्यालय राजापुर इंदौरा में कक्षा छह में पढ़ने वाले विपिन घर-घर जाकर लोगों को अपने बच्चों को स्कूल भेजने के लिए प्रेरित करते हैं।

ये भी पढ़ें - #KIDSTAKEOVERGAONCONNECTION: तस्वीरों में देखें बदायूं के बच्चों का ‘बाल दिवस’

विद्यालय प्रबंध समिति की मदद से कई अभियानों में हिस्सा लेने वाले विपिन ने बताया, ''मेरी दोनों बहनों को घरवाले पांचवी के बाद पढ़ाई नहीं करने देना चाहते थें। पिता जी कहते थे कि लड़कियों को घर का चौका-बर्तन संभालना चहिए, वो आगे पढ़कर क्या करेंगी। मैने उनको बहुत समझाया, उसके बाद उन्होंने मेरी बात मान ली और मेरी बहनों भी भेजा।''

ये भी पढ़ें - #KIDSTAKEOVERGAONCONNECTION : बाल दिवस पर सोनभद्र में बच्चों ने सजाईं झांकियां


अपनी ज़िद के कारण विपिन ने अपनी दोनों बहनों का दाखिला स्कूल में करवा दिया। आज उसकी बहनें उसके साथ स्कूल पढ़ने जाती हैं। विपिन हंसते हुए आगे कहता है, "जब मैं गाँव में लोगों को अपने बच्चों को स्कूल भेजने के लिए कहता हूं, तो लोग मुझसे बोलते हैं कि पहले खुद तो सही से पढ़ लो फिर हमें बताओ। लेकिन मैं उनकी बात सुनकर कुछ नहीं कहता।''

ये भी पढ़ें - #KIDSTAKEOVERGAONCONNECTION : बाल दिवस पर तस्वीरों में देखें श्रावस्ती की छात्राओं का हुनर

#KIDSTAKEOVERGAONCONNECTION : बाल दिवस पर बच्चे उठा रहे अपने हक की आवाज

ये भी देखें -

First Published: 2017-11-15 18:11:15.0

Share it
Share it
Share it
Top