यूपी पुलिस का सिंघम अवतार , 6 महीने में 420 मुठभेड़, 15 इनामी ढेर, 868 कुख्यात कैद

यूपी पुलिस का सिंघम अवतार , 6 महीने में 420 मुठभेड़, 15 इनामी ढेर, 868 कुख्यात कैदप्रतीकात्मक फोटो

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में अपराधियों के ऊपर लगातार हो रही कार्रवाई से प्रदेश की कानून व्यवस्था चुस्त-दुरुस्त होने लगी है। सीएम योगी के निर्देश के बाद पिछले छह महीने में पुलिस ने मुठभेड़ में 15 इनामी अपराधियों को मार गिराया। वहीं 84 अपराधी गोली लगने से घायल हुए। सीएम योगी ने साफ कहा है कि निर्दोषों को छेड़ेंगे नहीं और दोषियों को छोड़ेंगे नहीं। सीएम के इसी निर्देश पर कार्रवाई करते हुए पुलिस अपराधियों पर कहर बनकर टूटी है।

अपराधियों के खिलाफ चलाया अभियान

बता दें कि प्रदेश में बढ़ते अपराध ने आम जनमानस का जीना दुश्वार कर रखा था। कई सरकारें आई और गई, लेकिन एनकाउंटर की छूट नहीं दी गई। नतीजा यह हुआ कि अपराधियों के हौसले बढ़ने लगे। 10 साल बाद प्रदेश में 19 मार्च को भाजपा की योगी सरकार ने शपथ ली। जिसके बाद सरकार ने काम का तरीका बदला तो कई निजाम भी बदल गए। एनकाउंटर की छूट मिलते ही पुलिस ने भी अपराधियों के खिलाफ अभियान चला दिया।

ये भी पढ़ें:- ट्रैफिक पुलिस की नौकरी : ना तो खाने का ठिकाना, ना सोने का वक्त

6 महीने में कुल 420 मुठभेड़ हुई

सीएम ने डीजीपी को साफ निर्देश दिया था कि अपराधियों के खिलाफ विशेष अभियान चलाकर उन्हें सलाखों के पीछे भेजा जाए। इसी निर्देश के बाद पुलिस हरकत में आई और अपराधियों के खिलाफ कार्रवाई शुरू हुई। 20 मार्च से 14 सितम्बर तक के आंकड़ों पर नजर डालें तो अपराधियों के साथ पुलिस की कुल 420 मुठभेड़ हुई है। इनमे शामली में 4, आजमगढ़ में 3, मुजफ्फरनगर और सहारनपुर में 2-2 अपराधी मारे गए है। मेरठ में सबसे अधिक 9 अपराधी मारे गए है। जिसके बाद अपराधियों में दहशत फैल गई है।

गैंगस्टर एक्ट के तहत की गई कार्रवाई

राजधानी में हुई एक मुठभेड़ में भी इनामी बदमाश मारा गया। मारे गए सभी बदमाशों का लम्बा चौड़ा इतिहास था। इस दौरान 88 पुलिसकर्मी भी घायल हुए। योगी सरकार के करीब 6 माह के कार्यकाल में 1106 अपराधी गिरफ्तार किए गए, जिनमें 868 कुख्यात अपराधी हैं। इनकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने इनाम रखा था। वहीं अब तक 54 अपराधियों पर रासुका और 69 पर गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई की गई है।

ये भी पढ़े- ऑपरेशन निर्भीक योजना से बच्चों तक पहुंच रही पुलिस

पुलिस मुठभेड़ों के दौरान अब तक 84 बदमाश गोली लगने से घायल हुए, जिन्हें पुलिस ने गिरफ्तार किया। चित्रकूट में डकैतों से हुई पुलिस मुठभेड़ में उपनिरीक्षक जयप्रकाश सिंह शहीद हुए, जबकि अब तक हुई मुठभेड़ों में 88 पुलिसकर्मी बदमाशों की गोली लगने से घायल हुए हैं। डीजीपी सुलखान सिंह ने सभी जिले के एसएसपी/एसपी का वांछित बदमाशों की गिरफ्तारी के कड़े निर्देश दिए थे।
हरीराम शर्मा, आइजी कानून-व्यवस्था

पुलिस ने किया ढेर

  • लखनऊ : सुनील शर्मा
  • आजमगढ़ : जयहिंद यादव, रामजी व सुजीत सिंह उर्फ बुढवा
  • मथुरा : कासिम
  • चित्रकूट : शारदा कोल
  • हापुड़ : अतीक उर्फ इकबाल
  • सहारनपुर : गुरमीत व शमशाद
  • मुजफ्फरनगर : नितिन व नदीम
  • शामली : नौशाद उर्फ डैनी, सरवर, इकराम उर्फ टोला व राजू

ये भी पढ़ें:- क्या बिना लेनदेन के भी आपके बैंक अकांउट से कट रहे हैं पैसे... जान लीजिए क्यों हो रहा है ऐसा

ये भी पढ़ें:- बैंक मित्र बनकर आप भी कमा सकते हैं पैसा, ऐसे बने बैंक मित्र

ये भी पढ़ें:- कर्ज़माफी में दो रुपये के प्रमाण पत्र का गणित समझिए

ये भी पढ़ें:- मोदी, आबे ने बुलेट ट्रेन परियोजना की आधारशिला रखी

ये भी पढ़ें:- महंगाई में पेट्रोल ने तोड़ा तीन वर्षों का रिकार्ड, एक जुलाई से इतने बदले दाम

ये भी पढ़ें:- कितना होगा बुलेट ट्रेन का किराया, कितनी होगी स्पीड, जानिए इससे जुड़ी सारी बातें...

ये भी पढ़ें:- कानपुर से आईआईटी की पढ़ाई फिर जापानी लड़की से शादी, अब मिला देश की बुलेट ट्रेन का जिम्मा

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Share it
Share it
Top