यूपी को बनाएंगे आईटी हब, कई जिलों में खुलेंगे बीपीओ: रविशंकर प्रसाद

यूपी को बनाएंगे आईटी हब, कई जिलों में खुलेंगे बीपीओ: रविशंकर प्रसादप्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से बात करते रविशंकर प्रसाद (सभी फोटो: प्रमोद अधिकारी)

लखनऊ। यूपी में हजारों सीट की क्षमता वाले बीपीओ खोलने के लिए केंद्र सरकार की ओर से अनुमति दे दी गई है। पूर्वांचल से लेकर बुंदेलखंड तक बीपीओ खोले जाएंगे जिससे प्रदेश में आईटी सेक्टर में रोजगार बढ़ेंगे। आईटी इंजीनियरों को दूसरे प्रदेशों में कम पलायन करना पड़ेगा।

केंद्रीय न्याय व सूचना तकनीक मंत्री रविशंकर प्रसाद ने मंगलवार को आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि आज लखनऊ में एक ऐतिहासिक कार्यक्रम हुआ जिसमें हमने कई घोषणाएं की हैं। यूपी के 500 कॉमन सर्विस सेंटर (जनसुविधा केंद्र) को टेली लॉ सेंटर से जोड़ा जा रहा है। हमारी कोशिश है कि यूपी आईटी हब बने और यूपी इसकी अगुवाई करे।

रविशंकर ने आगे कहा, ‘सीएम योगी ने केंद्र सरकार को साथ देने का भरोसा दिया है। छह महीने में यूपी के 100 ज़िला अस्पतालों का डिजिटलीकरण होगा। उन्होंने बताया कि गाज़ीपुर, उन्नाव, बरेली, लखनऊ में हमने 1900 सीट वाले बीपीईओ को मंज़ूरी दी है। झांसी और चित्रकूट में 1500 सीट वाले बीपीओ खोले जाएंगे। रविशंकर प्रसाद ने कहा कि यूपी के कई शहरों में हम आईटी की कुल क्षमता बढ़ाने जा रहे हैं।

वाराणसी में जल्दी ही टीसीएस 1000 सीट का बीपीओ खोलने जा रहा है। इसमें महिलाओं को तरजीह दी जाएगी। इस पर रविशंकर ने कहा कि पिछले तीन वर्षों में नोएडा में 32 केंद्र विकसित किये गए हैं।

हम पश्चिम यूपी को इलेक्ट्रॉनिक मैनुफैक्चरिंग का केंद्र बनाने जा रहे है। रविशंकर प्रसाद ने कहा कि 10 साल से पुराने न्यायिक मामलों का निपटारा जल्द किया जाएगा। सीएम योगी ने मुख्य सचिव को निर्देश दिया हैं।यूपी के पुराने मामलों की समीक्षा कर जल्द निपटारा किया जाए। यूपी के सीएम ने ऐतिहासिक फैसला किया है।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top