जेवर गैंगरेप: पीड़िताओं ने की आत्महत्या की कोशिश

जेवर गैंगरेप: पीड़िताओं ने की आत्महत्या की कोशिशप्रतीकात्मक तस्वीर

नई दिल्ली। बुलंदशहर -जेवर हाइवे पर हाल ही में हुए गैंगरेप मामले में पीड़िताओं ने आत्महत्या की कोशिश की। बता दें कि पीड़ित परिवार आरोपियों की गिरफ्तारी की लंबे समय से मांग कर रहा है। इसके साथ ही उन्होंने पुलिस कार्यशैली पर भी सवाल उठाए हैं।

जानकारी के अनुसार जेवर कांड में रेप पीड़िता कार चालक की पत्नी ने रविवार की दोपहर गले में फंदा लगा कर आत्महत्या का प्रयास किया। उसी वक्त परिवार की एक युवती ने महिला को फंदा लगा पंखे से लटकने का प्रयास करते देख लिया और शोर मचा दिया। आवाज सुन परिवार के लोग भाग कर कमरे में पहुंचे और दरवाजा खोल महिला को नीचे उतारा। परिवार के लोगों ने महिला को समझाने का काफी प्रयास किया।

ये भी पढ़ें : जेवर गैंगरेप में नया मोड़, प्राथमिक जांच में रेप की पुष्टि नहीं

इसकी चर्चा हो ही रही थी कि शाम में तीन अन्य पीड़ित महिलाएं केरोसिन तेल लेकर छत पर पहुंच गईं। तीनों ने अपने ऊपर केरोसिन तेल डाल लिया और आग लगाने का प्रयास करने लगीं। हालांकि सभी महिलाएं अब सुरक्षित हैं। सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची।

गौरतलब है कि 24-25 मई की मध्य रात्रि को आठ व्यक्ति बुलंदशहर जा रहे थे, जिनसे जेवर क्षेत्र में यमुना एक्सप्रेस पर लूटपाट की गई। इस समूह की चार महिलाओं के साथ सामूहिक दुष्कर्म हुआ, जबकि परिवार के मुखिया की अपराधियों ने हत्या कर दी। उत्तर प्रदेश पुलिस के विशेष कार्यबल (एसटीएफ) के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि पुलिस ने पाया है कि अपराधियों ने अपराध के दौरान मोबाइल फोन का इस्तेमाल नहीं किया था।

घटना के बाद से ही पुलिस लगातार अपराधियों की धर-पकड़ के लिए प्रयास कर रही है। 10 दिन बीत जाने के बाद भी पुलिस के हाथ अभी तक कोई पुख्ता सबूत तक नहीं लग पाया है। जबकि शुरुआत में पुलिस ने 24 घंटे के अंदर अपराधियों को पकड़ने का आश्वासन दिया था। पीड़िता का कहना है कि पुलिस कोई कार्यवाही नहीं कर रही है, अपराधी अभी भी खुलेआम घूम रहे हैं तो हमें जीना का क्या फायदा।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top