सोच बदलने पर खुले में शौच से मुक्त होंगे गाँव

सोच बदलने पर खुले में शौच से मुक्त होंगे गाँवगाँव कनेक्शन फाउंडेशन की तरफ से शौच से मुक्त जागरुकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

इश्त्याक खान, स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

औरैया। स्वच्छ भारत मिशन अभियान के तहत श्रीमानव सेवा समिति और गाँव कनेक्शन फाउंडेशन की तरफ से ब्लाक सहार के सभागर में जागरुकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। एडीओ पंचायत प्रवीन कुमार ने कहा, “गाँवों को खुले में शौच से मुक्त करने के लिए लोगों की सोच बदलनी होगी। जिस गाँव में खुले में शौच जाने से रोकने के लिए ट्रिगरिंग की जाए वहां दूसरे गाँव के लोगों को लगाया जाए।”

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

जिला मुख्यालय से 36 किलोमीटर दूर सहार ब्लाक सभागार में ओडीएफ के प्रति जागरूक करने के लिए कार्यक्रम का आयोजन किया गया। एडीओ पंचायत प्रवीन कुमार ने लोगों से कहा, “जिले के प्रत्येक गाँवों को खुले में शौच से मुक्त करने की कवायद शुरू हो गई है। अब प्रधानों के खाते में पैसा न देकर लाभार्थी के खाते में पैसा भेजा जाएगा। पात्रता की श्रेणी में विधवा, विकलांग, अनुसूचित जाति, भूमिहीन मजदूर, गरीब सीमांत कृषक आएंगे। भले ही किसी भी श्रेणी के हों।

35 शौचालयों की कमी

सहार ब्लाक के गाँव पंडपुर निवासी शारदा देवी (38 वर्ष) का कहना है, “हमारे गाँव में पहले से शौचालय बने हैं। 50 शौचालय बन रहे हैं जो निर्माणाधीन हैं। 35 शौचालय और मिलने पर गाँव खुले में शौच से मुक्त हो जाएगा।

शौचालय तो बने लेकिन प्रयोग में नहीं

सहार ब्लाक के गाँव गपचरियापुर की निवासी रेखा का कहना है, “गाँव में शौचालय तो बने हैं, लेकिन उन्हें लोग प्रयोग नहीं करते हैं। वहां के लोगों में जागरुकता की कमी है। लोगों के जागरूक होने पर खुले में शौच जाना बंद करेंगे।”

बेस लाइन संशोधित का चल रहा कार्य

ब्लाक सहार के एडीओ प्रवीन कुमार ने बताया, “बेस लाइन में संशोधन किया जा रहा है। आठ अप्रैल तक संशोधन पूरा जाएगा। इसके बाद ओडीएफ युक्त के गाँव-गाँव जाकर जागरूक किया जाएगा और शौचालय बनवाए जाएंगे। उन्होंने महिलाओं को हर संभव मदद करने का आश्वासन दिया।”

50 शौचालय बनें तो बने बात

सहार ब्लाक के गाँव मका पुर्वा निवासी उमाकांती का कहना है, “गाँव में 50 शौचालयों की जरूरत है। जरूरत के शौचालय बनने पर गाँव खुले में शौच से मुक्त हो जाएगा, लेकिन इसके लिए एडीओ साहब को पहल करनी होगी।”

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top