गाँव की खस्ताहाल सड़कों पर पैदल चलना भी मुश्किल 

गाँव की खस्ताहाल सड़कों पर पैदल चलना भी मुश्किल जैपाल-गुलड़िया मार्ग के खस्ताहाल हालत पर कोई अधिकारी ध्यान नहीं दे रहा है।

डॉ. पुनीत मनीषी, स्वयं कम्युनिटी जर्नलिस्ट

शाहजहांपुर। तिलहर तहसील के बरखेड़ा जैपाल-गुलड़िया मार्ग के खस्ताहाल हालत पर कोई अधिकारी ध्यान नहीं दे रहा है। इस सड़क पर जगह-जगह गड्ढे हैं, मगर वर्षों बीत जाने के बाद भी इस सड़क की मरम्मत नहीं हो सकी है।

गाँव से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

इस सड़क पर गड्ढे इतने ज्यादा हो गये हैं कि किसी का निकलना तक मुश्किल हो रहा है। इस कारण रोज ही इस सड़क पर कोई न कोई हादसा होता ही है। इन हादसों की खबर अधिकरियों के कानों में भी पड़ती है पर उन को कोई फर्क नहीं पड़ता। यहां के रहने वाले राम सिंह (35 वर्ष) बताते हैं, ‘’करीब इस सड़क से प्रतिदिन बड़ी संख्या में लोग गुजरते हैं।

सड़क की हालत इतन खस्ताहाल हो चुकी है कि आए दिन लोग चोटिल हो जाते हैं। वहीं, जैपाल के रहने वाले कालीचरन (41 वर्ष) ने कहा, ‘’इसकी कोई सुनवाई ही नहीं है, पैदल भी चलना मुश्किल है। हल्की सी भी बारिश हो जाये तो निकलना बहुत ही मुश्किल हो जाता है। बता दें कि मुख्यमंत्री ने पिछले सप्ताह ही आदेश जारी कर कहा था कि पूरे प्रदेश में सड़कें 15 जून तक गड्ढा मुक्त होनी चाहिये इस पर मंगलवार को कैबिनेट ने भी मुहर लगा दी।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top