व्हाट्सएप ग्रुप से गरीब लड़की की शादी के लिए इकठ्ठा किए 35 हजार रुपए

व्हाट्सएप ग्रुप से गरीब लड़की की शादी के लिए इकठ्ठा  किए 35 हजार रुपएपैसा देने पहुंचे एसडीएम और अन्य लोग

रहनुमा बेगम, स्वयं कम्युनिटी जर्नलिस्ट

औरैया। एक दिव्यांग महिला अपनी बेटी की शादी के लिए अधिकारियों के पास तहसील दिवस में गिड़गिडा रही थी, तभी किसी ने महिला की फोटो व्हाटसएप ग्रुप पर वायरल कर दी। दिबियापुर ग्रुप के एडमिन और उनके साथियों ने गरीब महिला की पुत्री के हाथ पीले कराने के लिए 35 हजार रुपए इकट्ठा कर एसडीएम के साथ उनके घर जाकर दिया।

ये भी पढ़ें : बुजुर्ग मजदूरों को सरकार हर माह देगी पेंशन

जिला मुख्यालय से 10 किलोमीटर दूर शहर के सैनिक कॉलोनी नई बस्ती निवासी पिंकी सेंगर (45वर्ष) दिव्यांग है। पिंकी बताती हैं, “बचपन में चेचक की वजह से आंखों की रोशनी चली गई। मेरे तीन बच्चे हैं, जिनका पेट भरने के लिए हमें भीख मांगनी पड़ती है, मेरे पति पल्लेदारी करते हैं।”

ये भी पढ़ें : एक महिला इंजीनियर किसानों को सिखा रही है बिना खर्च किए कैसे करें खेती से कमाई

सेंगर परिवार अति भुखमरी की कगार पर खडा हुआ है। पिंकी के पति शरीर से कमजोर होने की वजह से सही से पल्लेदारी भी नहीं कर पा रहे है। बेटी पलक के हाथ पीले के लिए के लिए उसके पास एक पैसा नहीं था। इसलिए उसने तहसील दिवस में अधिकारियों से गुहार लगाई। जब लड़की की शादी के दिव्यांग माँ अधिकारियों से गुहार लगा रही थीं, तभी दिबियापुर ग्रुप के अंशू ठाकुर ने एक व्हाटसएप ग्रुप पर वायरल कर दी। इसके बाद ग्रुप में शामिल लोगों ने चंदा कर 35 हजार 500 रुपए जमा किए। इसके अलावा शहर के समाज सेवियों और एसडीएम ने 27 हजार रूपए इकट्ठा कर महिला के पति को भेंट किए।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Share it
Share it
Top