लखनऊ के चिड़ियाघर में अब नहीं दिखेगा व्हाइट टाइगर आर्यन

Diti BajpaiDiti Bajpai   24 Nov 2017 7:36 PM GMT

लखनऊ के चिड़ियाघर में अब नहीं दिखेगा व्हाइट टाइगर आर्यनआर्यन की आज सुबह मौत

लखनऊ। नवाब वाजिद अली शाह प्राणि उद्यान में अब आप व्हाइट टाइगर आर्यन को नहीं देख पाएंगे। दो नवंबर से बीमार चल रहे आर्यन की आज सुबह मौत हो गई है।

सफेद बाघ आर्यन की उम्र 17 वर्ष हो गयी थी, जबकि जंगल में इनकी सामान्य आयु 12-13 वर्ष की होती है। लखनऊ के प्राणि उद्यान में 3 जुलाई 2001 को दो सफेद बाघ के बच्चों का जन्म हुआ था। आर्यन की मां का नाम रीमा और पिता का नाम रूपेश था। रूपेश की मृत्यु कैंसर से हुई थी। आर्यन की मां रीमा का भी देहांत हो चुका है। आर्यन की एक बहन थी जिसका नाम रूपा था। रूपा को कानपुर प्राणि उद्यान भेज दिया गया था। रूपा की भी मृत्यु हो चुकी है।

यह भी पढ़ें- वन्य जीवों को बचाने के लिए वो जंगलों में बेखौफ घूमती है, देखिए तस्वीरें

सफेद बाघ आनुवांशिक रूप से कमजोर होता है। इंब्रेडिंग के कारण जेनेटिकली कमजोर होते हैं, जिसके कारण ये बीमारियों से जल्दी ग्रसित हो जाते हैं। आर्यन भी इन्हीं बीमारी से ग्रासित चल रहा था। आर्यन शुरू में भोजन लेता रहा लेकिन धीरे-धीरे उसने अपनी खुराक भी सीमित कर दी, जिसकी वजह से इसको आई.वी.फ्लूड चढ़ाने के साथ ही कई प्रकार की औषधियों पर रखा गया था और इसकी इस प्रकार की व्यवस्था की गयी थी कि आर्यन को किसी प्रकार शारीरिक परेशानी न हो।

यह भी पढ़ें- हस्तिनापुर सेंचुरी में बनेगा गैंडों का आशियाना

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top