प्रधानों के साथ योगी आदित्यनाथ खींचेंगे ग्रामीण विकास का खाका 

प्रधानों के साथ योगी आदित्यनाथ  खींचेंगे ग्रामीण विकास का खाका ग्रामीण विकास पर होगी चर्चा।

लखनऊ। 24 अप्रैल को पंचायतीराज दिवस के मौके पर प्रदेश के 2500 प्रधानों के साथ राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ विकासका एजेंडा तय करेंगे। जिसमें सबसे बड़ा मुद्दा प्रदेश के गांवों में “स्वच्छ भारत अभियान” को पहुंचाना होगा। “खुले में शौच” के खिलाफ किस तरह से गांवों में प्रधान लोगों को जागरूक कर सकते हैं और गांव के प्रत्येक घरों में सरकारी मदद के जरिये किस तरह से शौचालय बनवा सकते हैं। प्रदेश के सभी 75 जिलों में चुने हुए 30-30 प्रधानों को इस वार्तालाप में बुलाया गया। यहां आशियानास्थित लोहिया सभागार में इस सम्मेलन का आयोजन किया जाएगा।

पंचायती राज विभाग की ओर से प्रत्येक जिले में अच्छा काम करने वाली ग्राम पंचायतों को इस कार्यक्रम में बुलाया जा रहा है। पंचायतीराज विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि, कुल प्रधानों में से 33 फीसदी महिला प्रधान इसमें शामिल होंगी। इसके अलावा चुनाव के समय में जो आरक्षण व्यवस्था लागू होती है, वह भी इस आयोजन में भी लागू की जाएगी। आशियाना स्थित लोहिया विधि विश्वविद्यालय के डॉ भीमराव अंबेडकर सभागार में ये आयोजन 24 अप्रैल को सुबह 10:00 बजे से शुरू होगा, मगर ग्राम प्रधानों को इसमें सुबह 7:00 बजे से ही बुलाया गया है।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

प्रधानों में उत्साह रखेंगे अपनी बात

पहली बार योगी आदित्यनाथ प्रधानों से मुखातिब होंगे। ऐसे में प्रधानों में इस मुद्दे को लेकर खासा जोश है। कानपुर देहात की करसा ग्राम पंचायत के प्रधान संजय सिंह ने बताया कि, खुले में शौच के खिलाफ स्वच्छ भारत अभियान को गांव गांव तक पहुंचाना बहुत जरूरी है। इसके अलावा गांव में विकास कार्यों के दौरान बहुत सी रुकावटें भी सामने आती हैं। उनको दूर करने को लेकर भी सीएम के सामने अपनी बात रखेंगे। अशोक मिश्र ग्राम पंचायत रनिया के प्रधान हैं। उनका कहना है कि मुख्यमंत्री योगी प्रधानों से मिल रहे हैं।

ये बहुत ही खास मौका होगा। गांवों के विकास के बिना उत्तर प्रदेश को उत्तम प्रदेश बना पाना संभव नहीं होगा। ऐसे में प्रधानों के साथ इस तरह का कार्यक्रम बहुत खास हो जाएगा। भयथाना (कानपुर देहात) के प्रधान धर्मेंद्र सिंह का कहना है कि, गांवों में विकास के करीब 21 काम हैं, जो कि प्रधानों के जिम्मे हैं। ऐसे में इस तरह से मुख्यमंत्री से मुखातिब होना बहुत खास बात है। प्रधानों को इस काम से बहुत उम्मीद है।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top