यूपी में पहली बार 8वीं क्लास तक के बच्चों को मुफ्त जूते-मोजे और स्वेटर बांटेगी सरकार

यूपी में पहली बार 8वीं क्लास तक के बच्चों को मुफ्त जूते-मोजे और स्वेटर बांटेगी सरकारप्राथमिक विद्यालय के छात्र-छात्राएं।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार सरकारी प्राइमरी स्कूलों के कक्षा एक से आठ तक के बच्चों को नवंबर से स्वेटर, जूते और मोजे मुफ्त में देगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के अध्यक्षता में मंगलवार को हुई कैबिनेट की बैठक में इस प्रस्ताव को मंजूरी दे दी गई।

बच्चों को दिया जाएगा जूता, मोजा और स्वेटर

कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा, "सरकारी स्कूल के बच्चों को जूता, मोजा और स्वेटर दिया जाएगा। इसके लिए मीटिंग में फैसला लिया गया है। इसके लिए 300 करोड़ का बजट रखा गया है। इसमें 1,48,49,145 बच्चों को फायदा मिलेगा। जूते की कीमत 135.75 रुपये, मोजे की कीमत 21.50 रुपये तय की जा चुकी है। स्वेटर के लिए अभी ई-टेंडरिंग प्रक्रिया चल रही है।

मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना को मंजूरी

सिद्धार्थनाथ सिंह ने आगे बताया, "कैबिनेट मीटिंग में मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना को मंजूरी दी गई है। इसके तहत एक कमेटी जरूरतमंदों को चिन्ह‍ित करेगी। इसमें एक जोड़े पर 35 हजार रुपए खर्च होंगे। सामूहिक विवाह के लिए 10 जोड़े का होना अनिवार्य है। शादी करने वालों को कपड़े, बर्तन और गहने दिए जाएंगे। हर जोड़े को 20 हजार रुपए बैंक अकाउंट में दिए जाएगा।"

ये भी पढ़े- यूपी : राजकीय विद्यालय के बच्चों को शैक्षिक भ्रमण कराएगी सरकार

मिट्टी का तेल नियंत्रण अधिनियम संशोधित

सिद्धार्थ नाथ सिंह के मुताबिक यूपी मिट्टी का तेल नियंत्रण अधिनियम संशोधन को भी कैबिनेट बैठक में मंजूरी दी गई है। उन्होंने कहा, "इसके तहत अब तक एक गाँव में वन टाइम लाइसेंस जारी होता था, लेकिन हम बिना किसी कानूनी प्रक्रिया के अब ऑन पेपर लाइसेंस देंगे।"

आधार कार्ड से लिंक होंगी योजनाएं

कैबिनेट मीटिंग में आधार कार्ड को लेकर भी अहम फैसला लिया गया। अब किसी भी प्रकार की योजना का लाभ जन सामान्य को देने के लिए सारी योजनाओं को आधार से जोड़ा जाएगा। जैसे पेंशन, किसान से जुड़े रुपए, पीडीएस स्कीम इत्यादि. इससे लोगों को मालूम होगा कि कितना लाभ मिल रहा है। सिद्दार्थ सिंह के मुताबिक संविदा पर रखे गए लोगों को अब आधार से जोड़कर सीधे उनके बैंक एकाउंट में भुगतान करेंगे।

ये भी पढ़ें:- गरीब बच्चों के लिए वरदान आर्या पाठशाला

पीलीभीत में केंद्रीय विद्यालय की तर्ज पर बनेंगे चार नए मॉडल स्कूल

नोट- खेती में काम आने वाली मशीनों और जुगाड़ के बारे में जानकारी के लिए यहां क्लिक करें

Share it
Top