वायुसेना के लापता विमान को खोजने में जुटे 13 जहाज

वायुसेना के लापता विमान को खोजने में जुटे 13 जहाजgaonconnection

चेन्नई/दिल्ली (भाषा)। भारतीय वायुसेना के लापता विमान को खोजने के लिए थल और नौसेना को लगाया गया है। विमान का जिस वक्त रडार से संपर्क टूटा वो 23 हजार फीट की ऊंचाई पर था और उसमें 29 लोग सवार थे।  रक्षामंत्री मनोहर पर्रिकर ने कहा कि वायुसेना, नौसेना और कोस्टगार्ड का सर्च ऑपरेशन जारी है। खबर लिखे जाने तक कोई सफलता हाथ नहीं लगी थी। 

भारतीय वायुसेना का एएन-32 परिवहन विमान शुक्रवार को लापता हो गया। विमान चेन्नई के निकट से पोर्ट ब्लेयर के लिए रवाना हुआ था। इसमें चालक दल के छह सदस्यों समेत 29 लोग सवार हैं।

भारतीय वायुसेना, नौसेना और तटरक्षक बल द्वारा व्यापक खोज एवं बचाव अभियान शुरू किया गया है, जिसमें पांच विमान और 13 पोत लगाए गए हैं। लापता विमान से इसके तंबारम हवाई ठिकाने से उड़ान भरने के 16 मिनट बाद सुबह आठ बजकर 46 मिनट पर आखिरी बार रेडियो संपर्क हुआ था। इस विमान में सवार 29 लोगों में दो पायलट, एक नैविगेटर और नौसेना एवं थलसेना के लोग शामिल हैं।

भारतीय वायुसेना के प्रवक्ता विंग कमांडर अनुपम बनर्जी ने कहा, ‘‘यह विमान अपनी नियमित कूरियर सेवा पर था। यह करीब 8:30 बजे तंबारम से उड़ा और इसे 11:30 बजे पोर्ट ब्लेयर पर उतरना था।’’ रक्षा सूत्रों ने बताया कि इस विमान से जब आखिरी बार संपर्क स्थापित हुआ, उस समय यह करीब 23,000 फुट की ऊंचाई पर था।

जहां वायुसेना ने दो एएन-32 विमान के अलावा एक सी-130 विमान को इस खोज अभियान में लगाया है, नौसेना ने रणनीतिक रूप से महत्वपूर्ण पोर्ट ब्लेयर से दो पी8-आई समुद्री निगरानी और पनडुब्बी-रोधी युद्धक विमान लगाए हैं। नौसेना ने राहत और बचाव अभियान में दो डोर्नियर विमान और 13 पोतों को लगाया है। नौसेना के प्रवक्ता कैप्टन डीके शर्मा ने कहा, ‘‘ नौसेना ने खोज और बचाव अभियान के लिए बंगाल की खाड़ी में पूरी ताकत झोंक दी है।’’

Tags:    India 
Share it
Share it
Share it
Top