शराबबंदी के लिए महिलाओं की महापंचायत, कहा- उम्मीद है योगी जी जल्द लगाएंगे पाबंदी

शराबबंदी के लिए महिलाओं की महापंचायत, कहा- उम्मीद है योगी जी जल्द लगाएंगे पाबंदीबाराबंकी में प्रदेश को शराब मुक्त बनाने की मांग।

आकाश सिंह (स्वयं प्राेजेक्ट डेस्क)

बाराबंकी। जिले के देवा कोतवाली क्षेत्र के अंतर्गत स्माइलपुर औऱ छोटीपूर्वा गांव की सैकड़ों महिलाओं और लड़कियों ने मंगलवार को महिला पंचायत का आयोजन किया। पंचायत में शराब बंदी को लेकर कड़े कदम उठाने की बात कही गई।

गाँव के बाहर खुली शराब की देशी और अंग्रेजी दुकानों को बंद करवाने के साथ-साथ शराबियों के खिलाफ कार्यवाही करवाने को लेकर उन्होंने प्रदेश के नए मुख्यमंत्री से उम्मीदें लगाई हैं। उनका मानना है, योगी जी की सरकार जल्द ही प्रदेश को शराब मुक्त बनाएंगे।

गाँव में पंचायत के साथ-साथ महिलाओं ने अपने हाथों मे झाड़ू और डंडे लेकर पूरे प्रदेश में शराब पर प्रतिबन्ध लगाने के लिए विरोध प्रदर्शन भी किया । महिलाओं का कहना है कि उनके गांव के बाहर सड़क के किनारे बहुत से स्कूल और शराब के ठेके हैं।

स्कूल के पास शराब के ठेके होने के कारण स्कूल जाने वाले बच्चों और महिला अधयापकों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। शराब पीने के बाद जब गांव के पुरुष वापस लौटते है तो महिलाओं के साथ अभद्रता और मारपीट भी करते हैं।

महिलाओं ने कहा की पुरुष जितना भी कमाते हैं उसमें का आधे से ज्यादा हिस्सा वो लोग शराब पीने में ही लगा देते हैं।गाँव की लीलावती का कहना है, ’ उसके पति शराब के लिए घर का अनाज भी बेच डालते हैं, जिसकी वजह से घर की आर्थिक स्थिति भी बिगड़ती चली जा रही है।‘

गांव में रहने संजू का कहना है, ’जब गांव की महिलाएं व लड़किया बाजार जाती तब उनकों शराबियों द्वारा छेड़खानी की जाती है। जब पीड़िता आवाज उठाती हैं तो उसी का दोष निकाला जाता है।‘ महिलाओं ने विरोध जताते हुए कहा, ‘अगर समय रहते कार्यवाही नहीं हुई तो सब महिलाएं मिलकर शराब के ठेकों के सामने धरना प्रदर्शन करेंगी।‘

Share it
Top