विद्यालय में गेट लगवाने के लिए प्रांगण की लगी बोली

विद्यालय में गेट लगवाने के लिए प्रांगण की लगी बोलीगाँव कनेक्शन

ललितपुर। ललितपुर जिले के महरौनी ब्लॉक के ग्राम बगसपुर स्थित सरकारी स्कूल के प्रांगण में बच्चों के खेलने के स्थान पर खेती हो रही है। जो स्थान स्कूली बच्चों के लिए निर्धारित था। वहां अब मसूर की खेती लहलहा रही है।

बगसपुर गाँव के राजधर (45वर्ष) का कहना है, "प्रधानाध्यापक एवं उनके लड़के जो कि विद्यालय प्रबन्धन समिति के अध्यक्ष है ने विद्यालय की बाउड्री एवं गेट लगवाने के लिए धन इकठ्ठा करने के लिए विद्यालय के प्रागंण (करीब 1 एकड़) को गाँव के लोगों के सामने बोली लगवाकर खेती करने के लिए गाँव के किसान रतीराम को आठ हजार रुपये सालाना किराये पर दे दिया।"

विद्यालय के प्रधानाध्यापक राजपाल सिंह का कहना है, "जो खेती हो रही है वह प्रधान जी के सहयोग से हो रही है। एसएमसी अध्यक्ष, प्रधान एवं हमने प्रांगण को आठ हजार रुपये में गाँव के किसान को खेती करने के लिए दे दिया है जिससे विद्यालय का गेट लगवाया जायेगा।"

इस सम्बन्ध में बीइओ महरौनी राजकुमार पुरोहित का कहना है कि, "मुझे इस सम्बन्ध में कोई जानकारी नहीं है अगर ऐसा है तो आगे से ऐसा नहीं होगा और नीलामी की रकम से विद्यालय का गेट बनवाया जायेगा।"

विद्यालय में अध्ययनरत कक्षा दो के विद्यार्थी तेजसिंह का कहना है, ''हमें खेलने की जगह चाहिए, लेकिन मास्साब तो स्कूल में खेती करवा रहे है, इसलिए हम लोग खेल नहीं पाते हैं, क्योंकि फसल बोने वाला आदमी हम बच्चों पर गुस्सा करता है।" 

गांव का प्राथमिक विद्यालय कम कृषि फार्म ज्यादा नजर आता है। प्रांगण में खेती कर किसान रतीराम (30) का कहना है, "प्रधानाध्यापक एवं एसएमसी अध्यक्ष ने विद्यालय प्रांगण में खेती करने के लिए बोली लगवायी थी। हमने आठ हजार की बोली लगाकर एक साल के लिए विद्यालय प्रांगण को ठेके पर ले लिया है जिसमें हमने मसूर की फसल बोई है।"

गाँव कनेक्शन नेटवर्क

Tags:    India 
Share it
Top