विमान के लापता होने की निजी तौर पर निगरानी कर रहा हूं: मनोहर पर्रिकर

विमान के लापता होने की निजी तौर पर निगरानी कर रहा हूं: मनोहर पर्रिकरgaonconnection

पुणे (भाषा)। पिछले दिनों लापता होने के समय इस विमान एएन-32 को उड़ा रहे फ्लाइट लेफ्टिनेंट कुणाल बरपट्टे के परिवार से आज रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने मुलाकात की और उन्हें भरोसा दिलाया कि वह हालात की निगरानी व्यक्तिगत तौर पर कर रहे हैं।     

पर्रिकर ने घटना पर दुख जताया और कुणाल के माता-पिता के प्रति सहानुभूति ज़ाहिर की। कुणाल के पिता राजेंद्र से बातचीत में उन्होंने कहा, ‘‘मैं स्तब्ध हूं। यह भारतीय वायुसेना के सबसे सुरक्षित और सबसे अच्छे विमानों में से एक था वह नीचे कैसे गिर सकता है? मैं निजी तौर पर हालात की निगरानी कर रहा हूं।'' रक्षा मंत्री ने कहा कि उन्होंने वायुसेना के अधिकारियों को निर्देश दिया कि वे लापता विमान के चालक दल के परिजनों के संपर्क में रहें और खोज अभियान के बारे में उन्हें लगातार जानकारी देते रहें।     

इससे पहले, कुणाल के माता-पिता ने शिकायत की थी कि लापता विमान की खबरें आने के बाद सूचनाएं हासिल करने के उनके बार-बार के प्रयासों के बावजूद उन्हें भारतीय वायुसेना के सुलुन बेस से कोई जवाब नहीं मिला। कुणाल के एक रिश्तेदार ने पर्रिकर को ट्वीट किया, तब जाकर करीब 30 घंटे के बाद प्रभावित परिवार से अधिकारियों ने संपर्क किया। बीते 22 जुलाई को भारतीय वायुसेना के विमान ने ताम्बरम एयर बेस से पोर्ट ब्लेयर के लिए उड़ान भरी थी, लेकिन रास्ते में ही वह लापता हो गया। इस विमान पर चार अधिकारियों सहित 29 लोग सवार थे। 

Tags:    India 
Share it
Top