यमन में मारे गए भारतीय पादरी के लिए गिरिजाघरों में प्रार्थनाएं

यमन में मारे गए भारतीय पादरी के लिए गिरिजाघरों में प्रार्थनाएंGaon Connection

नई दिल्ली। आईएसआईएस ने दक्षिण यमन के एक वृद्धाश्रम से चार मार्च को अगवा भारतीय पादरी टॉम उजहूनालिल की गुड फ्राइडे के दिन हत्या कर दी। अमेरिकी अखबार डेली मेल के हवाले से ये जानकारी दी गई है। टॉम यमन में मदर टेरेसा मिशनरीज के चैरिटी के लिए काम करते थे और उन्हे 4 मार्च को यमन के एक ओल्ड एज होम से किडनैप किया गया था।

अखबार में छपी खबर के मुताबिक विएना में ईस्टर मास के दौरान कार्डिनल क्रिस्टोफ शानबार्न ने पादरी की मौत की पुष्टि की है। उन्होंने मीडिया को बताया कि आतंकियों ने उन्हें भयंकर यातनाएं दी और सूली पर चढ़ा दिया। केरल के रहने वाले टाम उजहूनालिल एक कैथोलिक फादर थे। वो यमन में मदर टेरेसा मिशनरीज के चैरिटी के लिए काम करते थे। एक और अमेरिकी अखबार वॉशिंगटन टाइम्स ने भी पादरी को सूली पर लटकाए जाने की खबर की पुष्टि की है। पादरी की मौत की ख़बरें आने के बाद देश के कई गिरिजाघरों में पादरी टॉम की आत्मा की शांति के लिए प्रार्थनाएं की जा रही हैं।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top