यूपी असीमित संभावनाओं का प्रदेश: अखिलेश यादव

यूपी असीमित संभावनाओं का प्रदेश: अखिलेश यादवगाँव कनेक्शन

आगरा। एनआरआई विभाग और फिक्की के संयुक्त तत्वावधान में पहले उत्तर प्रदेश प्रवासी दिवस का आयोजन किया गया। इस दौरान मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा, ''राज्य सरकार ने यह आयोजन उन लोगों को फिर से अपनी जड़ों की ओर आकर्षित करने के लिए किया गया है जिन्हें ब्रिटिश हुकूमत के दौरान भारत से बाहर ले जाया गया था।''

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि यह प्रदेश असीमित संभावनाओं का प्रदेश है। यहां पर सभी प्रकार के प्राकृतिक संसाधनों के साथ-साथ मानव संसाधन मौजूद हैं, जिनका उपयोग प्रदेश के विकास में किया जा सकता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार ने विकास के लिए त्वरित फैसले लिए जिनका नतीजा है कि आज लखनऊ में सबसे तेज मेट्रो रेल आ रही है, जो इस साल अक्टूबर मेें दौडऩे लगेगी। इसके अलावा कई अन्य शहरों में भी मेट्रो लाने की तैयारी चल रही है। लगभग 300 किमी लंबे आठ लेन के आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे, लखनऊ में आईटी सिटी की स्थापना, उन्नाव में ट्रांसगंगा हाईटेक सिटी, लखनऊ में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम की स्थापना, पूरे प्रदेश की सड़कों को सुदृढ़ीकरण के साथ-साथ पूरे प्रदेश में अन्य अवस्थापना सुविधाएं जैसे पुलों, आरओबी, फ्लाई ओवर का निर्माण कार्य बहुत तेजी से चल रहा है। 

उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार पर्यटन को बड़े पैमाने पर बढ़ावा दे रही है क्योंकि इसके माध्यम से बेरोजगारों को रोजगार दिया जा सकता है। इसके लिए प्रदेश के सभी पर्यटन स्थलों का विकास किया जा रहा है। राज्य सरकार ने आगरा-लखनऊ-वाराणसी हेरिटेज आर्क की स्थापना की है, ताकि पर्यटकों को इस क्षेत्र के सभी पर्यटक स्थलों तक पहुंचने में आसानी हो। सरकार ने कन्नौज के पारंपरिक इत्र उद्योग को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पहुंचाने के लिए इत्र क्लस्टर बनाने की योजना बनाई है।

मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर मौजूद प्रवासियों का स्वागत करते हुए कहा कि आगरा में आयोजित पहले उत्तर प्रदेश प्रवासी दिवस पर सभी प्रवासियों का स्वागत करते हुए उन्हें बड़ी प्रसन्नता हो रही है। उन्होंने कहा कि आज से सैकड़ों वर्ष पूर्व ब्रिटिश हुकूमत के दौरान भारत से बड़ी संख्या में गिरमिटिया मजदूर सूरीनाम, फिजी, ट्रिनीडाड एण्ड टुबैगो, मॉरिशस इत्यादि ले जाए गए थे, उनमें उत्तर प्रदेश के भी बहुत से लोग थे। इस आयोजन के माध्यम से प्रवासियों को अपनी जड़ों से जुडऩे, अपनी माटी की सुगन्ध को पहचानने के साथ-साथ इस प्रदेश के विकास में अपना योगदान देने का भी मौका मिलेगा। यह आयोजन छह जनवरी तक आगरा में चलेगा। इस दौरन मुख्यमंत्री ने यूपी रत्न पुरस्कारों का वितरण किया।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top