यूपी के सूखाग्रस्त ज़िलों में रबी फसलों के बीजों पर ज़्यादा अनुदान

यूपी के सूखाग्रस्त ज़िलों में रबी फसलों के बीजों पर ज़्यादा अनुदान

लखनऊ। प्रदेश सरकार द्वारा प्रदेश के 50सूखाग्रस्तजनपदों के किसानों को रबी 2015-16 में राहत देने के लिए गेहूँ, दलहनी तथा तिलहनी फसलों हेतु भारत सरकार द्वारा लगाई गई 50 प्रतिशत अनुदान की सीमा को शिथिल करते हुए राज्य सेक्टर से अतिरिक्त अनुदान देने का निर्णय लिया है।

 

कृषि मंत्री श्री विनोद कुमार ने बताया कि अब इन जनपदों में राज्य सरकार द्वारा गेहूँ पर 400 रुपये प्रति कुन्तल के स्थान पर एक हजार रुपये प्रति कुन्तल का अनुदान दिया जायेगा।

 

उन्होंने बताया भारत सरकार द्वारा एक हजार रुपये प्रति कुन्तल का अनुदान दिया जा रहा है इस प्रकार अब कृषकों को कुल 02 हजार रुपया प्रति कुन्तल अनुदान मिलेगा।

 

कृषि मंत्री ने बताया कि सूखाग्रस्त 50 जनपदों में दलहनी फसल चना, मटर एवं मसूर की समस्त प्रमोशनल प्रजातियों में भारत सरकार से देय अनुदान के साथ ही राज्य सरकार द्वारा अभी तक देय 800 रुपये प्रति कुंतल के साथ साथ 1700 रुपये प्रति कुन्तल का अनुदान दिया जायेगा।

 

तिलहन में राई/सरसों तोरिया एवं अलसी के प्रमोशनल बीजों पर राज्य सेक्टर से 1200 रुपये प्रति कुंतल अतिरिक्त अनुदान दिया जायेगा।

 

कृषि मंत्री ने बताया कि इन जनपदों में जो कृषक रबी 2015-16 में डीबीटीके माध्यम से बीज प्राप्त कर चुके हैं उन्हें भी अतिरिक्त अनुदान का लाभ दिया जायेगा तथा अतिरिक्त अनुदान ‘आरजीटीएस’ के माध्यम से कृषकों के खातों में भेज दिया जायेगा। उन्होंने बताया कि यह अतिरिक्त अनुदान सूखाग्रस्त जनपदों के किसानों को सूखाग्रस्त अवधि तक ही दिया जायेगा।

 

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top