एनिमेशन की दुनिया में ऐसे बनाएं अपना करियर

एनिमेशन की दुनिया में ऐसे बनाएं अपना करियरएनिमेशन की दुनिया पूरी तरह से कल्पना और तकनीक पर आधारित है। इसमें सारा कार्य एक जगह बैठे-बैठे विभिन्न सॉफ्टवेयर्स की मदद से कम्प्यूटर पर किया जाता है।

लखनऊ। क्रिएटीविटी में विश्वास और बहुत कुछ कर गुज़रने की चाह है, तो आप एनिमेशन की दुनिया में करियर बना सकते हैं। देश-विदेश में आज तेज़ी से एनिमेशन का क्रेज़ बढ़ता जा रहा है। विज्ञापन, फिल्म, कार्टून, सीरियल आदि में आप क़िस्मत आज़मा सकते हैं और अपने हुनर का प्रदर्शन कर सकते हैं। इस क्षेत्र में करियर बनाने के लिए कैसे करें शुरुआत? इसके बारे में बता रहे हैं करियर काउंसलर विवेक मिश्रा-

शैक्षणिक योग्यता

एनिमेशन में करियर बनाने के लिए प्रबल इच्छाशक्ति के साथ 12वीं पास होना या फिर उसके समकक्ष की पढ़ाई ज़रूरी है। इस क्षेत्र में आगे बढ़ने के लिए आप आगे की पढ़ाई भी कर सकते हैं।

क्या हैं कोर्स

इस क्षेत्र में करियर बनाने के इच्छुक ग्रेजुएट, पोस्ट ग्रेजुएट, डिप्लोमा कोर्स कर सकते हैं। इतना ही नहीं, आजकल कई तरह के प्रोफेशनल कोर्स भी उपलब्ध हैं। कई कंपनियां अपने यहां जॉब के लिए प्रोफेशनल ट्रेनिंग भी कराती हैं।

कैसे बनता है एनिमेशन

एनिमेशन की दुनिया पूरी तरह से कल्पना और तकनीक पर आधारित है। इसमें सारा कार्य एक जगह बैठे-बैठे विभिन्न सॉफ्टवेयर्स की मदद से कम्प्यूटर पर किया जाता है। इसमें एनिमेशन विषेशज्ञ की भूमिका सबसे अधिक होती है, जिसकी मदद से वह विभिन्न प्रकार के कृत्रिम दृश्यों एवं घटनाओं को वास्तविकता का जामा पहनाया जाता है। एनिमेशन का कार्य वे लोग ही अच्छी तरह से कर सकते हैं, जो क्रिएटिविटी होते हैं एनिमेशन कार्य के लिए कई तरह की तकनीकी जानकारियों की जरूरत होती है, जैसे-स्क्रिप्टिंग, स्कल्पटिंग, लाइफ ड्राइंग, मॉडल एनिमेशन आदि।

क्या है ज़रूरी

एक अच्छा एनिमेटर बनने के लिए हार्ड वर्क, विज़ुअलाइज़िंग एबिलिटी, इमैजिनेशन, क्रिएटीविटी, लॉजिकल अंडरस्टैंडिंग के साथ डेडलाइन के भीतर काम करने की आदत होनी चाहिए।

उपलब्ध कोर्स

अधिकांश कॉलेजों में संचालित बैचलर ऑफ फाइन आर्ट्स यानी बीएफए कोर्स के दौरान एक प्रश्नपत्र के रूप में भी एनिमेशन पढ़ाया जाता है, लेकिन कई बड़े संस्थानों में डिप्लोमा या एडवांस डिप्लोमा एवं सर्टिफिकेट कोर्स के तहत मार्केट की मांग के मुताबिक एनिमेशन की प्रोफेशनल ट्रेनिंग दी जाती है, जहां इंडस्ट्री के प्रोजेक्ट पर भी काम करने का मौका मिलता है। ऐसे कोर्सों की अवधि एक से दो वर्ष की होती है। कोर्स के दौरान ड्राइंग, ग्राफिक्स, प्रोडशन, प्रोग्रामिंग, लाइटिंग आदि के साथ-साथ एनिमेशन व डिजिटल आर्ट्स की विस्तृत जानकारी दी जाती है। कौन कर सकता है। हमेशा कुछ नया सोचना और रचनात्मक करने का माद्दा रखते हैं, तो एनिमेशन आपके लिए बेहतरीन क्षेत्र है।

व्यक्तिगत विशेषता

एनिमेशन में करियर बनाने के लिए किसी विशेष चीज़ की ज़रूरत नहीं होती। हां, रचनात्मक होना ज़रूरी है। इस क्षेत्र में करियर बनाने के इच्छुक लोगों को जल्दी शुरुआत कर देनी चाहिए। स्केच बनाना, ड्रॉइंग और कम्प्यूटर में बहुत ज़्यादा रुचि रखने वालों के लिए ये क्षेत्र उपयोगी होता है।

प्रमुख संस्थान

  • एरीना मल्टीमीडिया, दिल्ली
  • एरीना मल्टीमीडिया, मुंबई
  • एरीना मल्टीमीडिया, बैंग्लोर
  • एरीना मल्टीमीडिया, नोएडा
  • ग्लोबल स्कूल ऑफ एनिमेशन, नई दिल्ली
  • ग्लोबल स्कूल ऑफ एनिमेशन, चेन्नई
  • माया एकेडमी ऑफ एडवांस्ड सिनेमैटिक, मुंबई
  • टेक्नो प्वाइंट मल्टीमीडिया, मुंबई
  • टेक्नो प्वाइंट मल्टीमीडिया, बंगलुरु

वेतन

एनिमेशन के क्षेत्र में शुरुआत में 7500 से 10 हज़ार तक की सैलरी मिलती है, लेकिन महज़ दो साल के अनुभव के बाद आप 20 हज़ार से 75 हज़ार प्रतिमाह तक कमा सकते हैं। साथ ही फ्रीलांस के तौर पर भी इस क्षेत्र में आप बहुत पैसा कमा सकते हैं। एनिमेशन की दुनिया में करने के लिए बहुत कुछ है। आप अपने हुनर से देश और विदेश दोनों जगह काम कर सकते हैं। इतना ही नहीं, करियर के तौर पर इसे चुनने पर आपको आर्थिक रूप से बहुत फ़ायदा मिल सकता है, लेकिन पैसे और नाम के साथ ही घंटों लगातार काम करना तनावपूर्ण होता है। कई बार इसका सेहत पर बुरा असर भी पड़ता है। अतः इस क्षेत्र में आने से पहले इन सब चीज़ों पर भी ग़ौर कर लें।

This article has been made possible because of financial support from Independent and Public-Spirited Media Foundation (www.ipsmf.org).

Share it
Top