बारहवीं तक के छात्र-छात्राओं के लिए सुनहरा मौका, जीत सकते हैं एक लाख तक का पुरस्कार

बारहवीं तक के छात्र-छात्राओं के लिए सुनहरा मौका, जीत सकते हैं एक लाख तक का पुरस्कार

उमाशंकर मिश्रा, इंडिया साइंस वायर

नई दिल्ली। बच्चों में वैज्ञानिक दृष्टिकोण के विकास और उनकी मौलिक खोजों को प्रोत्साहन देने के लिए सीएसआईआर-नवाचार पुरस्कारों की घोषणा कर दी गई है। वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान परिषद (सीएसआईआर) द्वारा स्कूली बच्चों के लिए शुरू की गई यह एक वार्षिक प्रतियोगिता है। इसका उद्देश्य स्कूली बच्चों के नवाचारी विचारों की खोज को प्रोत्साहन और विज्ञान के प्रति उनकी रुचि को बढ़ावा देना है।

इस प्रतियोगिता के अंतर्गत स्कूली छात्रों से नवाचारी प्रौद्योगिकी एवं डिजाइन से जुड़े मौलिक विचार आमंत्रित किए जाते हैं। विजेताओं का चयन उनके नवाचारी विचारों की उपयोगिता के आधार पर किया जाता है। किसी मौजूदा समस्या के समाधान, नये डिजाइन, नयी पद्धति, उपकरण या प्रक्रिया के विकास पर आधारित विचारों को प्रतियोगिता में प्रमुखता से शामिल किया जाता है। सीएसआईआर-नवाचार पुरस्कार-2020 के लिए 30 अप्रैल तक आवेदन कर सकते हैं।

बारहवीं कक्षा तक के छात्र, जिनकी उम्र 18 वर्ष या उससे कम है, इस प्रतियोगिता में शामिल हो सकते हैं। अपने स्कूल प्राध्यापक से आवेदन को प्रमाणित कराने के बाद प्रतियोगिता में भेजा जा सकता है। हिंदी अथवा अंग्रेजी में आवेदन भेजे जा सकते हैं। छात्र अपने प्रस्ताव अकेले या फिर सामूहिक रूप से भेज सकते हैं। किसी सरकारी विभाग अथवा संस्था द्वारा पहले से पुरस्कार प्राप्त प्रस्तावों को प्रतियोगिता में शामिल नहीं किया जाएगा।

नवाचार की अवधारणा को मॉडल, प्रोटोटाइप या प्रयोगात्मक डेटा के माध्यम से प्रदर्शित किया जाना चाहिए। प्रतियोगिता में भेजे जाने वाले प्रस्ताव इंटरनेट अथवा किसी अन्य स्रोत से कॉपी किए हुए नहीं होने चाहिए। छात्र अधिकतम पाँच हजार शब्दों में अपने प्रस्ताव भेज सकते हैं।

प्रतियोगिता में चुने कुल 15 विजेताओं को चुना जाएगा, जिन्हें नकद पुरस्कार के साथ-साथ प्रमाण पत्र प्रदान किया जाएगा। एक लाख रुपये के एक नकद पुरस्कार के अलावा 50 हजार रुपये के दो द्वितीय पुरस्कार, 30 हजार रुपये के तीन तृतीय पुरस्कार, 20 हजार रुपये के चार चतुर्थ पुरस्कार और 10 हजार रुपये के पाँच पंचम पुरस्कार इस प्रतियोगिता के विजेताओं को प्रदान किए जाएँगे।

सीएसआईआर-नवाचार पुरस्कार की शुरुआत 26 अप्रैल 2002 को विश्व बौद्धिक संपदा अधिकार दिवस के अवसर की गई थी। प्रतियोगिता के विषयों को जैव प्रौद्योगिकी, जीव विज्ञान, रसायन विज्ञान, इलेक्ट्रॉनिक्स और इंजीनियरिंग / उपकरण और डिजाइन जैसे समूहों में वर्गीकृत किया गया है। इसके बारे में विस्तृत जानकारी सीएसआईआर की वेबसाइट पर मिल सकती है। विजेताओं को 26 सितंबर को सीएसआईआर के स्थापना दिवस के अवसर पर पुरस्कार प्रदान किए जाएंगे। (इंडिया साइंस वायर)

ये भी पढ़ें : विज्ञान के क्षेत्र में कैरियर बनाने वाली छात्राओं के लिए अच्छा मौका


Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.