गांव के सरकारी स्कूल से पढ़ाई कर दिहाड़ी मजदूर के बेेटे ने क्लीयर किया जेईई एडवांस्ड 

गांव के सरकारी स्कूल से पढ़ाई कर दिहाड़ी मजदूर के बेेटे ने क्लीयर किया जेईई एडवांस्ड प्रतीकात्मक तस्वीर

केंद्रपाडा (ओडिशा) (भाषा)। ओडिशा के जगतसिंहपुर जिले के एक गाँव के दिहाड़ी मजदूर के बेटे ने ज्वाइंट एंटरेंस एग्जामिनेशन (एडवांस्ड) पास कर लिया है। अनुसूचित जाति (एससी) श्रेणी में उसे 582 वीं रैंक मिली है।

विकास दास जिसका परिवार गरीबी रेखा के नीचे आता है उसे एससी श्रेणी में 582 वीं रैंक प्राप्त हुई और अब वह आईआईटी में सीट पाने का अधिकारी है। उनके पिता विजय दास ने कहा, ‘विकास ने कभी भी अंग्रेजी माध्यम स्कूल में पढ़ाई नहीं की। उसने गांव के ही प्राथमिक और उच्च माध्यमिक विद्यालय से पढ़ाई की, वह पढ़ाई में अच्छा था।’

ये भी पढ़ें: गरीबों का मसीहा: पढ़िए सुपर 30 के आनंद कुमार की कहानी, पैसे नहीं सपनों की ताकत से चलाते हैं कोचिंग

दास ने कहा, ‘मैं खेतों में काम करता हूं, यही मेरी आजीविका है। पैसों की परेशानी के बावजूद बेटे की शिक्षा मेरे लिए प्राथमिकता थी। प्राथमिक स्कूल के दिनों से ही वह पढ़ाई में बहुत अच्छा था। मैंने उसकी पढ़ाई के लिए पैसा बचाया। मैं बहुत खुश हूं।’ विकास अपने पिता को अपनी प्रेरणा बताते हुए कहता है कि वही उसके मार्गदर्शक भी हैं।

Share it
Top