इसी महीने घोषित होंगे यूपी बोर्ड परीक्षाओं के नतीजे 

इसी महीने घोषित होंगे यूपी बोर्ड परीक्षाओं के नतीजे फोटो साभार: इंटरनेट

जौनपुर। उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री डॉक्टर दिनेश शर्मा ने रविवार को कहा कि माध्यमिक शिक्षा परिषद (उप्र बोर्ड) की हाईस्कूल और इंटरमीडियट परीक्षाओं का परिणाम इसी महीने घोषित कर दिया जाएगा और 16 अप्रैल से नया शैक्षणिक सत्र शुरू होगा।

शर्मा ने एक स्कूल का उद्घाटन करने के बाद कहा, “मुझे खुशी है कि इस बार नकलविहीन परीक्षा हुई और उत्तर पुस्तिकाएं भी समय से जांच ली गईं। हम अप्रैल में ही हाईस्कूल और इंटरमीडियट परीक्षाओं के परिणाम घोषित कर देंगे।“

उन्होंने कहा, “आने वाले समय मे यह कार्य महाविद्यालयों और विश्वविद्यालयों में भी किया जाएगा ताकि शैक्षणिक सत्र नियमित हो सके। विश्वविद्यालयों से कहा गया है कि वे किसी भी हालत में 15 जून तक सभी परीक्षा परिणाम घोषित कर दें। अगले साल से सभी विश्वविद्याल एक साथ परीक्षा कराएं, यह भी प्रयास सरकार कर रही है।“

शिक्षकों की समस्याओं के लिए बनाया पोर्टल

प्रदेश के माध्यमिक और उच्च शिक्षा विभाग का जिम्मा भी सम्भाल रहे शर्मा ने कहा, “शिक्षकों की समस्याओं के समाधान के लिए सरकार ने एक पोर्टल बनवाया है, जिसमें शिक्षकों को अपनी समस्या अपलोड करनी होगी। उनकी जो भी सेवा संबंधित समस्या होगी, उसका जून तक समाधान किया जाएगा। इसके लिये सभी अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं।“

ये भी पढ़ें- UP board result 2018 : बोर्ड परीक्षा की कॉपियों में किसी ने दी प्यार की दुहाई तो किसी ने लिखी मार्मिक अपील

नकल माफियाओं को चिन्हित किया जाएगा

उन्होंने कहा, “अब माध्यमिक विद्यालयों में एनसीआरटी पैटर्न पर कोर्स रहेगा। नये शिक्षण सत्र की शुरुआत 16 अप्रैल को कर दी जाएगी। जुलाई तक नया शैक्षिक कलेंडर जारी किया जाएगा।“ उप मुख्यमंत्री ने कहा, “सरकार ने नकल माफियाओं को जौनपुर सहित पूरे प्रदेश में मात दी है और जो माफिया अभी पकड़ से बाहर है, उनको भी अगले साल तक चिन्हित कर लिया जाएगा।“

अंबेडकर जी का सपना था…

शर्मा ने स्कूल के उद्घाटन के बाद आयोजित समारोह को संबोधित करते हुए कहा, “प्रदेश सरकार कानून व्यवस्था को सुदृढ़ बनाने के लिए अपराधियों के विरुद्ध सघन अभियान चला रही है। बाबा साहेब भीमराव रामजी अंबेडकर का सपना था कि जब कोई दलित व्यक्ति सर्वोच्च संवैधानिक पद पर बैठेगा तभी संविधान की रक्षा होगी। उस सपने को भाजपा ने साकार किया है। आज देश के सर्वोच्च पद यानी राष्ट्रपति की कुर्सी पर रामनाथ कोविंद के रूप में एक दलित पहुंचा है तो यह काम भाजपा ने किया है।“

(एजेंसी)

ये भी पढ़ें- मेधावी ग्रेजुएट विद्यार्थी पीजी के लिए पा सकते हैं मोबिट स्कॉलरशिप

ये भी पढ़ें- यूपी में मदरसा बोर्ड की परीक्षाएं 16 अप्रैल से, किन्नर भी होंगे शामिल

ये भी पढ़ें- नेतृत्व क्षमता रखने वाले सक्रिय युवाओं के लिए फैलोशिप

Tags:    up board 
Share it
Top