आखिर ट्विटर पर क्यों छिड़ी है बेरोजगारों की जंग ?

आखिर ट्विटर पर क्यों छिड़ी है बेरोजगारों की जंग ?टिवटर पर इस तरह सरकार से प्रार्थना कर रहे हैं छात्र।

इन दिनों उत्तर प्रदेश के करीब 40,000 बेरोजगारों ने टिवटर पर सरकार के खिलाफ जंग छेड़ रखी है। ये बेरोजगार आवाज उठा रहे हैं, सवाल पूछ रहे हैं और सिर्फ सरकार की ओर से एक जवाब का इंतजार कर रहे हैं। आइये बताते हैं आपको, आखिर क्यों टिवटर पर जंग छेड़ने की नौबत बेरोजगारों के सामने आई।

मामला क्या है…

उत्तर प्रदेश में यह मामला अधीनस्थ सेवा चयन आयोग (UPSSSC) से जुड़ा है, जिसका गठन पिछली समाजवादी सरकार में समूह ‘ग’ की भर्ती के लिए किया गया था। तब आयोग ने ग्राम विकास अधिकारी, कनिष्ठ सहायक, गन्ना पर्यवेक्षक, सहायक लेखाकार समेत कई पदों के लिए 11,500 भर्तियां निकालीं। इन भर्तियों में 90 प्रतिशत प्रक्रिया पूरी होने के बाद उत्तर प्रदेश सरकार ने आयोग को भंग कर भर्तियों को रोक दिया।

90 दिनों के अंदर आयोग का गठन कर भर्ती प्रक्रिया को शुरू करने का आश्वासन दिया, मगर 10 महीने बीत जाने के बाद भी परिणाम शून्य है। ऐसे में नौकरी की आस में लंबा इंतजार कर चुके इन 40,000 से ज्यादा अभ्यर्थियों ने टिवटर को अपना हथियार बनाया है, और अब नौकरी या इच्छामृत्यु देने की मांग कर रहे हैं। मगर अब तक इन बेरोजगारों की आवाज सुनने वाला कोई नहीं है।

देखिए कैसे आवाज उठा रहे बेरोजगार

यह भी पढ़ें: ‘साहब… 40 हजार छात्रों का सवाल है, अब नौकरी दो या इच्छामृत्यु’

वाह ! विदेश मंत्रालय की नौकरी छोड़कर बिहार के सैकड़ों युवाओं को दिलाई सरकारी नौकरी

गांव के सरकारी स्कूल से पढ़ाई कर दिहाड़ी मजदूर के बेेटे ने क्लीयर किया जेईई एडवांस्ड

Share it
Top