India’s Biggest

Rural Media Platform

दुनिया

इस बार माघ मेले में पहुंच सकते हैं तीन करोड़ श्रद्धालु

गाँव कनेक्शन संवाददाता

लखनऊ। इस बार माघ मेले के दौरान इलाहाबाद में होने वाले विभिन्न स्नानों के मौके पर देश-विदेश के करीब तीन करोड़ श्रद्धालुओं के आने का अनुमान है। इनमें से केवल स्नानों में ही ढाई करोड़ लोग आ जाएंगे। जिसको लेकर रोडवेज ने करीब दो हजार अतिरिक्त बसों का इंतजाम करने की घोषणा की है।

मकर संक्रांति से माघ मेले का आगाज होगा, जिसको लेकर कल्पवासियों के लिए विशेष इंतजाम पूरे मेला परिसर में किये गये हैं। इन दिनों माघ मेला क्षेत्र तंबुओं के छोटे शहर में तब्दील हो गया है। मौनी अमावस्या एवं बसन्त पंचमी पर्व पर अधिसंख्य यात्रियों के आवागमन के दृष्टिगत 24 जनवरी से 02 फरवरी की अवधि में पर्याप्त संख्या में बसों की उपलब्धता सुनिश्चित की जायेगी। मेलाधिकारी की मांग पर आवश्यकतानुसार अतिरिक्त बसों की व्यवस्था संबंधित रोडवेज अफसर करेंगे।

मुख्य स्नान पर्व मौनी अमावस्या 27 जनवरी शुक्रवार को पड़ेगा। मौनी अमावस्या स्नान पर्व से बसन्त पंचमी की तिथि तक यात्रियों के अधिक आवागमन के लिए कुल 2000 बसों का संचालन किया जाएगा। जिसमें 200 रिजर्व बसें शामिल हैं। इसके अतिरिक्त इलाहाबाद के निकटवर्ती तीर्थस्थलों जैसे विन्ध्याचल, चित्रकूट एवं अयोध्या के लिए 80 बसों की अतिरिक्त व्यवस्था की गयी है।

समस्त क्षेत्रीय प्रबन्धकों और सेवा प्रबन्धकों को इलाहाबाद में पड़ने वाले माघ मेला-2017 को देखते हुए निर्देश जारी किये गये हैं। मुख्य पावन स्नान पर्व एवं प्रत्येक पर्व पर उत्तर प्रदेश एवं निकटवर्ती प्रदेशों से आने वाले तीर्थ यात्रियों को प्रदेश के महत्वपूर्ण स्थानों से सुगम, सस्ती एवं आराम दायक यात्रा सुलभ कराई जाएगी।
के. रविन्द्र नायक, प्रबन्ध निदेशक, परिवहन निगम।

इन क्षेत्रों से बसों की तैयारी

गोरखपुर- 350 बसें

आजमगढ़- 250 बसें

वाराणसी- 270 बसें

फैजाबाद- 200 बसें

इलाहाबाद- 370 बसें

चित्रकूटधाम - 150 बसें

झांसी- 30 बसें

देवीपाटन- 100 बसें

कानपुर से चलेंगी 200 बसें

कानपुर क्षेत्र की 200 बसों का संचालन मेले में किया जायेगा, जिसमें कानपुर, बिन्दकीरोड एवं फतेहपुर तथा अन्य प्रमुख स्थानों से आवयकतानुसार बसें संचालित करेगा।

लखनऊ से चलेंगी 150 बसें

लखनऊ क्षेत्र द्वारा लखनऊ, सीतापुर, रायबरेली आदि स्थानों से मेले में बसें संचालित की जायेगी। इसकी व्यवस्था क्षेत्रीय प्रबन्धक लखनऊ की जायेगी, इस हेतु उनके द्वारा एक अधिकारी/उपाधिकारी की तैनाती सिविल लाइन्स बस स्टेशन पर की जायेगी।