सिक्किम बना पहला जैविक राज्य

सिक्किम बना पहला जैविक राज्यगाँव कनेक्शन, जैविक खेती, सिक्किम, देविंदर शर्मा

नई दिल्ली। सिक्किम भारत का पहला पूर्ण जैविक राज्य बन गया है। सिक्किम करीब 75,000 हेक्टेयर कृषि भूमि में टिकाऊ कृषि करता है। 

एक वेबसाइट के अनुसार, सिक्किम जैविक मिशन के कार्यकारी निदेशक डॉ आनबालागन ने बताया, दिसंबर के आखिर में हमने पूर्ण जैविक राज्य का दर्जा हासिल कर लिया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 18 जनवरी को गंगटोक में होने वाले टिकाऊ कृषि सम्मेलन में इसकी औपचारिक घोषणा करेंगे। एक दशक से पहले पवन चामलिंग के नेतृत्व वाली सरकार ने विधानसभा में घोषणा कर सिक्किम को जैविक कृषि राज्य बनाने का फैसला किया था। इसके बाद कृषि योग्य भूमि के लिए रासायनिक उर्वरकों का प्रयोग और उनकी बिक्री को प्रतिबंधित कर दिया गया। इससे किसानों के पास जैविक अपनाने के सिवा कोई विकल्प नहीं था। आनबालागन ने बताया कि करीब 75,000 हेक्टेयर कृषि भूमि को क्रमिक रूप से प्रमाणिक जैविक भूमि में तब्दील किया गया। सिक्किम में करीब 80 हजार टन कृषि उत्पादों का उत्पादन होता है जबकि देश में कुल जैविक कृषि उत्पादन 12.40 लाख टन है।

कृषि विषयों के जानकर देविंदर शर्मा कहते हैं, “सिक्किम ने  पूरी तरह से जैविक खेती का एक मानक तय किया है, यह हिमालयी क्षेत्र में बसे दूसरे राज्यों के लिए एक रोल मॉडल बन गया है प्रधानमंत्री मोदी खुद उत्तर-पूर्वी राज्यों को जैविक खेती की दिशा में अग्रेसित करने के लिए उत्सुक हैं जोकि यूपीए सरकार की असम व अन्य राज्यों में दूसरी हरित क्रांति के बिल्कुल विपरीत है यह एक स्वागत योग्य पहल है और इसे पूरे हिमालयी क्षेत्र में अपनाया जाना चाहिए।"

सिक्किम के साथ-साथ मिजोरम, अरुणाचल प्रदेश जैसे अन्य राज्य भी जैविक खेती का तरीका अपनाने की ओर अग्रसर हैं। 

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top