Top

Lok Sabha Elections 2019: 'कब्र' वाले बयान के लिए गिरिराज सिंह को चुनाव आयोग की चेतावनी

इससे पहले 2014 के चुनाव के दौरान भी गिरिराज सिंह पर उनके सांप्रदायिक बयानों के कारण उनके प्रचार करने पर रोक लगा दिया था।

Lok Sabha Elections 2019: कब्र वाले बयान के लिए गिरिराज सिंह को चुनाव आयोग की चेतावनी

लखनऊ। चुनाव आयोग ने केन्द्रीय मंत्री और भाजपा नेता गिरिराज सिंह को उनके साम्प्रदायिक बयानों के लिये रविवार को चेतावनी दी। आयोग ने केन्द्रीय मंत्री को चेतावनी देते हुए उन्हें आचार संहिता लागू रहने के दौरान अपने बयानों को लेकर सतर्क रहने को कहा। चुनाव आयोग ने कहा कि सिंह ने आचार संहिता के प्रावधानों और उच्चतम न्यायालय के निर्देशों का उल्लंघन किया। आदर्श चुनाव आचार संहिता के अनुसार प्रचार के दौरान कोई भी नेता या पार्टी धर्म और उसके प्रतीकों का इस्तेमाल नहीं कर सकता।

दरअसल गिरिराज सिंह ने बेगूसराय में 24 अप्रैल को एक रैली को संबोधित करते हुए कहा था, "जो वंदेमातरम नहीं कह सकते या मातृभूमि का सम्मान नहीं कर सकते, देश उन्हें कभी माफ नही करेगा। मेरे पूर्वजों का सिमरिया घाट पर निधन हो गया था और उन्हें कब्र की आवश्यकता नहीं थी, लेकिन आपको तीन हाथ जगह की जरूरत होती है।" इसके बाद बेगूसराय जिला प्रशासन ने गिरिराज सिंह के भाषण को स्वत: संज्ञान लेते हुए 25 अप्रैल को उनके खिलाफ मामला दर्ज किया था।

उनके खिलाफ अल्पसंख्यकों को लेकर विवादित बयान देकर चुनाव आचार संहिता और जनप्रतिनिधत्वि कानून का उल्लंघन करने का आरोप लगा था। इस दौरान रैली में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह भी मौजूद थे। आपको बता दें कि इससे पहले 2014 के चुनाव के दौरान भी गिरिराज सिंह पर उनके सांप्रदायिक बयानों के कारण उनके प्रचार करने पर रोक लगा दिया था।

(भाषा से इनपुट के साथ)

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.