बच्चों की मौत ने दुनिया को रुला दिया

बच्चों की मौत ने दुनिया को रुला दियाgaoconnection

लाहौर। रविवार रात हुए लाहौर के एक लोकप्रिय पार्क में भीषण आत्मघाती हमले में मरने वालों की संख्या 72 हो गई है। मृतकों की संख्या अभी और बढ़ सकती है। इनमें 29 बच्चे और करीब आठ महिलाएं शामिल हैं। हमलों में घायल हुए 300 से भी अधिक लोगों में 26 की हालत काफी गंभीर बताई जा रही है। घायलों में ज्यादातर बच्चे हैं।

यह बर्बर हमला एक आत्मघाती हमलावर ने किया जिसका ताल्लुक जमातुल अहरार समूह से है। यह संगठन तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान से अलग होकर बना है। पूरे विश्व में इस घटना की कड़े शब्दों में निंदा हो रही है। एक ओर अमेरिका ने इसे कायरतापूर्ण आतंकी हमला बताया। वहीं संयुक्त राष्ट्र संघ ने पाकिस्तान से अल्पसंख्यक समुदायों समेत नागरिकों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए कदम उठाने को कहा है।

रविवार रात लाहौर गुलशन ए इकबाल पार्क में जब धमाका हुआ तब वहां बडी संख्या में लोग मौजूद थे। लोग ईस्टर मनाने के लिए जमा हुए थे। पाकिस्तानी तालिबान ने कहा कि लाहौर के एक लोकप्रिय पार्क में रविवार रात किए गए भीषण आत्मघाती हमले का निशाना ईसाई थे।

शहर के अलग-अलग अस्पतालों की ओर से जारी डाटा के अनुसार मारे गए लोगों में कम से कम 29 बच्चे और आठ महिलाएं शामिल हैं। मरने वालों में कम से कम 20 ईसाई शामिल हैं।

जमातुल अहरार के प्रवक्ता अहसनुल्ला अहसन ने कहा, ‘‘ईस्टर बना रहे ईसाइयों को निशाना बनाया गया था। यह पाकिस्तान के प्रधानमंत्री के लिए भी संदेश था कि हम पंजाब में दाखिल हो चुके हैं।’’

जमातुल अहरार के दावे को खारिज करते हुए लाहौर जिला समन्वय अधिकारी कैप्टन मुहम्मद उस्मान ने कहा, ‘‘विस्फोट का निशाना सिर्फ ईसाई नहीं थे। यह पार्क सिर्फ ईसाइयों के लिए नहीं है। निशाना पाकिस्तानी थे।’’ प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने जिन्ना अस्पताल का दौरा किया।

Tags:    India 
Share it
Top