बुलंदशहर गैंगरेप: 5 गिरफ्तार, 7 सस्पेंड, 3 आरोपी न्यायिक हिरासत में भेजे गए

बुलंदशहर गैंगरेप: 5 गिरफ्तार, 7 सस्पेंड, 3 आरोपी न्यायिक हिरासत में भेजे गएबुलंदशहर गैंगरेप: 5 गिरफ्तार, 7 सस्पेंड, पिता बोले-नहीं मिला न्याय तो कर लूंगा खुदकुशी

लखनऊ/बुलंदशहर/नई दिल्ली। यूपी के बुलंदशहर में नेशनल हाइवे पर मां-बेटी के गैंगरेप की घटना के बाद राज्य सरकार हरकत में है। सरकार ने कार्रवाई करते हुए बुलंदशहर के SSP, SP सिटी और CO समेत 7 पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया है। दूसरी तरफ CM अखिलेश यादव ने मुख्य सचिव, गृह सचिव और पुलिस महानिदेशक को बुलंदशहर में मौके पर पहुंचने के निर्देश दिए हैं।

प्रदेश में 15 टीमें रवाना की गईं हैं

CM ने पुलिस से कहा है कि 24 घंटे में आरोपियों की गिरफ्तारी होनी चाहिए। मौके पर DGP पहुंचे हैं। मुख्य आरोपी की तलाश के लिए पूरे प्रदेश में 15 टीमें रवाना की गईं हैं। फास्ट ट्रैक कोर्ट ने तीन आरोपियों को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है लेकिन अब भी दर्जन भर आरोपी पकड़ से बाहर हैं।

खेत में हुआ गैंगरेप

नोएडा का रहने वाला परिवार शुक्रवार रात बुलंदशहर के रास्ते शाहजहांपुर जा रहा था। नेशनल हाइवे 91 पर बुलंदशहर से महज दो किलोमीटर दूर सड़क पर कार रोककर अगवा किया और फिर बंधक बनाकर गैंगरेप किया गया। घटना शुक्रवार देर रात की है। 14 साल की बच्ची और उसकी मां के साथ दरिंदों ने गैंगरेप किया। दो घंटे तक परिवारवालों को बंधक बनाकर रखा गया और बाद में पैसे गहने लूट लिए गए।

परिवार के 6 लोग नोएडा से शाहजहांपुर के लिए निकले थे

शुक्रवार की रात 11.30 बजे एक ही परिवार के 6 लोग नोएडा से शाहजहांपुर एक रिश्तेदार के यहां तेरहवीं के एक कार्यक्रम में शामिल होने के लिए निकले थे। जब बुलंदशहर के करीब पहुंचने को थे तो उनकी गाड़ी पर किसी चीज़ से हमला हुआ। पीड़ित परिवार बच-बचाते रोके बिना गाड़ी को आगे ले जाता रहा, लेकिन एक किलोमीटर आगे बढ़ने पर एक बार फिर से रोज़दार आवाज़ के साथ हमला हुआ और जबरन गाड़ी को रोका गया।

गाड़ी रोकते ही बीच हाइवे पर 7-8 लोगों ने गाड़ी को घेर लिया और गाड़ी में मौजूद 3 पुरुषों को बन्दूक की नोक पर कब्जे में ले लिया गया। डकैती करने आए लोगों में से एक ने गाड़ी को हाईवे से नीचे खेतों में उतार लिया। गाड़ी में बैठी 3 महिलाओं से मार पीट कर कुछ गहने उतरवाए फिर उनमें से दो के साथ गैंगरेप किया गया।

9वीं में पढ़ने वाली 13 साल की लड़की और मां बनी शिकार

जिसमें 1 नौवीं में पढ़ने वाली 13 साल की लड़की थी और दूसरी उसकी माँ। ये सब रात 1.15 के करीब हुआ। 2 से ढाई घंटे तक ये सब हुआ। परिवार का दावा है गहने और कैश मिलकर डेढ़ लाख रुपये की लूट हुई। ये सब होने के बाद डकैतों ने परिवार के सभी लोगों के हाथ पैर बांध दिए, जिससे किसी तरह निकल कर पुलिस को सूचना दी गई। पहली बार 100 नंबर पर फोन किया लेकिन जवाब नहीं मिला। थाना हादसे की जगह से केवल 2 किलोमीटर दूर था।

SO सस्पेंड 

प्रसाशन ने कार्रवाई करते हुए संबंधित थाना क्षेत्र के प्रभारी निरीक्षक को सस्पेंड कर दिया है खबर है कि पुलिस ने इससे जुड़े दो लोगों को गिरफ्तार किया है। हालांकि अभी इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है।

मेरठ रेंज की DIG लक्ष्मी सिंह ने क्या कहा-

बावरिया गैंग पर शक है। उसका modus operandi लगभग ऐसा ही।

# 300 पुलिस की टास्क फोर्स बनाई गई है. कई टीमें अलग-अलग भेजी गई हैं. धर पकड़ के लिए राजस्थान में हरियाणा के पलवल में टीमें भेजी गई हैं

# गाड़ी को रोकने लिए उसपर एक्सेल फेंका गया… अब पुलिस ने उसे बरामद कर लिया है

# वारदात के तरीके से लगता है कि स्थानीय लोग भी इसमें शामिल हो सकते हैं

# 18-20 लोगों को संदेह के आधार पर पकड़ा गया है. जल्द मामला सुलझा लिया जाएगा

# जहाँ यह सब हुआ वो हाइवे से करीब 1 किलोमीटर अंदर है, काफी आइसोलेटेड जगह है

आरोपी की पहचान हो गई है, जल्द पकड़े जाएंगे: UP पुलिस

बुलंदशहर गैंगरेप केस में यूपी के एडीजी क़ानून व्यवस्था दलजित सिंह चौधरी का बयान आया है. उन्होंने कहा है कि ये गंभीर घटना है. दलजीत चौधरी के मुताबिक करीब 15 संदिग्ध जांच के घेरे में हैं और मुख्य आरोपी की पहचान कर ली गई है. उनका कहना है कि आरोपी की लोकेशन मिल रही है. एडीजी के मुताबिक ये घुमंतू गिरोह है और जल्द ही ये पकड़े जाएंगे.

विपक्ष के निशाने पर अखिलेश सरकार

UP बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्या ने कहा कि इस तरह की घटनाएं प्रदेश की बदनामी करवा रहीं हैं। अखिलेश यादव को तत्काल इस्तीफ़ा दे दना चाहिए। इस तरह की घटनाएं प्रमाण हैं कि प्रदेश में सरकार और प्रशासन का भय खत्म हो गया है। कांग्रेस प्रवक्ता अखिलेश सिंह ने कहा, यूपी में अपराधियों के हौसले चरम पर हैं। ये पुष्टि करता है कि अपराधी मस्त हैं और सरकार पस्त है।

Tags:    India 
Share it
Share it
Share it
Top