बुंदेलखंड पहले सूखा झेल रहा था, अब बाढ़ का संकट

बुंदेलखंड पहले सूखा झेल रहा था, अब बाढ़ का संकटgaonconnection

लखनऊ। अभी पंद्रह दिन तक सूखे का सामना करने वाले क्षेत्रों में अब बाढ़ का खतरा मंडराने लगा है। जहां चित्रकूट में मंदाकिनी, बांदा में केन नदी के उफान पर होने से बाढ़ का खतरा है, तो वहीं सतना जिले में बाढ़ ने विकराल रूप ले लिया है।

केन्द्रीय जल आयोग की रिपोर्ट के अनुसार, बीते 24 घंटों के दौरान बहराइच में 36.2 मिमी, नीमसार में 31.6 मिमी, कनूर में 28.4 मिमी, जालौन में 26 मिमी और औरैया में 13 मिमी वर्षा हुई है। आयोग के अनुसार, गंगा नदी (डलमऊ, रायबरेली, इलाहाबाद, वाराणसी, मीरजापुर, गाजीपुर और बलिया) और यमुना (मथुरा, आगरा, औरैया, हमीरपुर और बांदा) में बढ़ रही है।

केन नदी बांदा और शारदा खीरी जिले के पलियाकलां में खतरे के निशान से ऊपर तथा शारदा नगर में खतरे के निशान पर है। वहीं, घाघरा (एल्गिन ब्रिज, बाराबंकी, अयोध्या और बलिया) में खतरे के निशान की ओर बढ़ रही है।

वहीं, असम समेत कई राज्य बाढ़ का संकट बढ़ गया है। मध्यप्रदेश में पिछले तीन दिनों से लगातार बारिश होने से कारण कई स्थानों पर बाढ़ की स्थिति बन गई है और जन जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। रीवा और सतना जिलों में हेलीकॉप्टर और मोटर बोट की सहायता से बाढ़ में फंसे लोगों को निकाला गया।

भोपाल मौसम केंद्र के संचालक डॉ. अनुपम काश्यपी ने बताया, “अगले 24 घंटों में सतना, होशंगाबाद, जबलपुर, रायसेन, जिलों में भारी वर्षा होने की संभावना है। भोपाल, नरसिंहपुर, विदिशा और बैतूल जिलों में भी अगले 24 घंटों में अच्छी वर्षा होने के उम्मीद है।”

सतना के जिलाधिकारी नरेश पाल ने बताया, “उफनती बरसाती नदी के टापू बन चुके 1,500 की आबादी वाले सरियाटोला गाँव में मोटर बोट से खाद्ध सामग्री और दवाइयां पहुंचाई गई हैं।’’ मौसम विभाग के मुताबिक सतना में पिछले 24 घंटे में 244 मिलीमीटर वर्षा दर्ज़ की गई है।

पश्चिम बंगाल में मानसून सुस्त रहा और राज्य के अधिकांश हिस्सों में हल्की या ना के बराबर बारिश हुयी। हालांकि राजधानी शहर अपवाद रहा और कल सुबह से पिछले 24 घंटों के दौरान यहां पर 17.6 मिलीमीटर बारिश हुई। ओडिशा में लगभग सभी स्थानों पर बारिश हुई लेकिन बंगाल की खाड़ी के पूर्व-मध्य के उपर कम दबाव का क्षेत्र बनने के कारण उत्तरी तटीय क्षेत्र में एक या दो स्थानों पर भारी बारिश होने की खबर है। साथ ही 11 जुलाई तक मूसलाधार बारिश होने की संभावना है।

Tags:    India 
Share it
Share it
Share it
Top