उपाध्याय के दर्शन को समर्पित संग्रह का विमोचन करेंगे मोदी 

उपाध्याय के दर्शन को समर्पित संग्रह का विमोचन करेंगे मोदी उपाध्याय के दर्शन को समर्पित संग्रह का विमोचन करेंगे मोदी 

नई दिल्ली (भाषा)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भाजपा विचारक दीन दयाल उपाध्याय के जन्म शताब्दी वर्ष पर उनके संदेश का प्रसार करने के प्रयासों के तहत पूर्व जन संघ प्रमुख के दर्शन को समर्पित कार्यों की एक श्रृंखला का आज विमोचन करेंगे।

15 संस्करण वाले ‘द कम्प्लीट वर्क्स ऑफ दीनदयाल उपाध्याय’ संग्रह में उपाध्याय के जीवन की महत्वपूर्ण घटनाओं और 1965 भारत-पाकिस्तान युद्ध, ताशकंद समझौता एवं गोवा की मुक्ति जैसी अहम घटनाओं समेत देश एवं जन संघ की यात्रा को रेखांकित किया गया है। इसके अंतिम से पहले वाले संस्करण में उपाध्याय के 1967 में जनसंघ प्रमुख बनने के तत्काल बाद उनकी हत्या संबंधी घटनाओं का जिक्र किया गया है।

इसमें उपाध्याय के उन बौद्धिक संवादों एवं उपदेशों, विभिन्न लेखों, और भाषणों का संग्रह है जिनमें एकात्म मानववाद के दर्शन के बारे में बताया गया है। इस संग्रह का प्रकाशन रिसर्च एंड डिवेल्पमेंट फाउंडेशन फॉर इंटीग्रल ह्यूमैनिज्म एवं प्रभात प्रकाशन ने किया है और महेश चंद्र ने इसका संपादन किया है। इस संग्रह में उपाध्याय के बताए गए भारतीयता के प्रतिरूप के आधार पर समकालीन समस्याओं को सुलझाने के दृष्टिकोण एवं समीक्षात्मक विश्लेषण पर प्रकाश डाला गया है।

शर्मा ने कहा, “पंडित दीनदयाल उपाध्याय का संपूर्ण साहित्य अब प्रकाशित हो चुका है। यह काम उनके निधन के पांच दशक बाद हुआ है। हालांकि इस काम में देरी हुई, लेकिन वर्ष 2016 में उनके जन्म शताब्दी वर्ष में ‘द कम्प्लीट वर्क्स ऑफ दीनदयाल उपाध्याय’ का प्रकाशन एक यादगार क्षण है।”

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top