कानपुर रेल हादसे के बाद 5 अफसर सस्पेंड, मरने वालों की संख्या हुई 150

कानपुर रेल हादसे के बाद 5 अफसर सस्पेंड, मरने वालों की संख्या हुई 150कानपुर रेल हादसा

लखनऊ। बीती रविवार रात कानपुर के पास हुए इंदौर-पटना ट्रेन हादसे के दो दिनों के भीतर ही रेल मंत्रालय ने बड़ी कार्रवाई करते हुए झांसी के DRM एसके अग्रवाल का तबादला कर दिया है। वे अब रांची रेल मंडल के DRM होंगे।

बारह साल के एक बच्चे समेत चार और घायलों के दम तोड़ने के साथ ही रविवार को इस ट्रेन हादसे में मरने वालों की संख्या बढ़कर 150 हो गयी। यह हादसा पिछले 17 सालों में सबसे भीषण रेल हादसा है।

वरिष्ठ संभागीय मेकेनिकल इंजीनियर नवेद तालिब, संभागीय इंजीनियर एम के मिश्रा, वरिष्ठ सेक्शन इंजीनियर अंबिका ओझा, सेक्शन इंजीनियर ईश्वर दास और वरिष्ठ सेक्शन इंजीनियर सुशील कुमार गुप्ता को लापरवाही बरतने के चलते सस्पेंड कर दिए गए, जबकि झांसी संभाग के DRM एस के अग्रवाल का तबादला कर दिया गया और पांच अधिकारीयों को जांच जारी रहने तक के लिए सस्पेंड कर दिए गए।

रेल मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि जिम्मेदारी तय करने के लिए कार्रवाई करना बहुत जरूरी था। निलंबन और स्थानांतरण आदेश रेल सुरक्षा आयुक्त की जांच चलने तक के लिए जारी किया गया। रेल सुरक्षा आयुक्त पीके आचार्य ने पत्रकारों को बताया कि यह पता करने के लिए ट्रेन के दोनों ड्राइवरों के ब्लड सैंपल लैब में भेजे गए हैं कि कहीं वे नशे की हालत में तो नहीं थे। यह हो सकता है कि इस हादसे की वजह यही हो। उन्होंने कहा कि ड्राइवरों के ब्लड सैंपल जांच के लिये लैब में भेजे गये है। लैब से रिपोर्ट आने के बाद ही वह आगे कोई टिप्पणी कर पायेंगे।

Share it
Top