मीटिंग में गए टीचर, नौनिहाल भगवान भरोसे

मीटिंग में गए टीचर, नौनिहाल भगवान भरोसेप्रतीकात्मक तस्वीर।

रवीन्द्र सिंह यादव (कम्यूनिटी जर्नलिस्ट) 28 वर्ष

सकरावा (कन्नौज)। गाँव और जिले की सीमाओं पर चल रहे बेसिक शिक्षा विभाग के स्कूलों में शिक्षण व्यवस्था चौपट हो चुकी है। इनकी सुध लेने वाला कोई नहीं है। अधिकारी जहां शांत हैं तो जनप्रतिनिधि भी चुप्पी साधे हुए हैं। ‘गाँव कनेक्शन' ने मंगलवार को चार परिषदीय स्कूलों का हाल देखा, जहां कई ऐसे मामले प्रकाश में आए जिससे लगा कि यहां का हाल बेलगाम है। कहीं बच्चों को छोड़कर शिक्षक बैठक में शामिल होने की बात कहकर निकल गए तो कहीं 26 बच्चों पर तो शिक्षकों की तैनाती रही। अब भी कई विद्यालयों में चहारदीवारी नहीं बन पाई है।

नगला विशुना प्राथमिक स्कूल में सिर्फ 24 बच्चे

सौरिख ब्लॉक क्षेत्र के नगला विशुना प्राथमिक स्कूल में इंचार्ज हेडमास्टर प्रदीप कुमार और सहायक अध्यापक के पद पर सुनीता देवी तैनात हैं। मौके पर मिलीं सहायक अध्यापिका ने बताया कि इंचार्ज हेडमास्टर का गैरजनपद तबादला हो गया है। इसलिए वह नहीं आ सके हैं। उन्होंने बताया कि कक्षा एक में सात, कक्षा दो में नौ, कक्षा तीन में दो, कक्षा चार में चार और कक्षा पांच में चार बच्चे पंजीकृत हैं। मंगलवार को दो बच्चे गैरहाजिर बताए गए यानी 24 आए थे। बच्चों की कम संख्या के पीछे सहायक अध्यापिका का तर्क था कि निजी स्कूलों में बच्चे पढ़ने जाते हैं।

पूर्व माध्यमिक स्कूल दिलावरपुर में 11 बच्चे, शिक्षक थे नहीं

27 दिसम्बर को दोपहर एक बजे जब पूर्व माध्यमिक स्कूल दिलावरपुर का हाल देखा गया तो यहां सिर्फ 11 बच्चे मौजूद थे। प्राथमिक पाठशाला दिलावरपुर में मौजूद सहायक अध्यापक रामस्वरूप ने बताया कि प्रधानाध्यापक रतीराम बैठक में शामिल होने के लिए निकल गए हैं। ग्रामीणों ने बताया कि पूर्व माध्यमिक स्कूल में मिड-डे-मील नहीं बनता है। प्रधानाध्यापक तीन महीने बाद रिटायर हो रहे हैं। इसलिए वह रूचि नहीं ले रहे हैं। यहां पर 60 बच्चे पंजीकृत बताए गए हैं। देखने पर केवल 20 फीसदी ही मिले।

प्राथमिक स्कूल दिलावरपुर के हेडमास्टर बैठक में तो दूसरे दवा लेने गए

प्राथमिक स्कूल दिलावरपुर में मौके पर मिले सहायक अध्यापक रामस्वरूप ने बताया कि उनके यहां तीन लोग तैनात हैं। हेडमास्टर आदेश वर्मा बैठक में प्रतिभाग करने निकल गए हैं। दूसरे सहायक अध्यापक रवि यादव दवा लेने के लिए गए हैं। यहां पर 129 बच्चे पंजीकृत बताए गए। मौके पर कक्षा एक व दो में 24-24, तीन में 21, चार में 16 और पांच में 15 नौनिहाल बताए गए।

नगला खेमकरन में 60 बच्चों पर चार शिक्षक

सौरिख ब्लॉक क्षेत्र के ही नगला खेमकरन पूर्व माध्यमिक स्कूल में प्रधानाध्यापक लालता प्रसाद, सहायक अध्यापक सतीश चंद्र, सुनील कुमार और गौरव तैनात हैं। मौके पर सभी मौजूद थे। पंजीकृत 60 बच्चों में 48 हाजिर बताए गए। यहां पर चहारदीवारी न होने की वजह से गाँव के कुछ लोग कंडे पाथते हैं। पुआल रखकर अतिक्रमण हो जाता है। बिजली भी नहीं है। हैंडपंप की चौकी टूटी है। प्रधानाध्यापक ने बताया कि चहारदीवारी के लिए उन्होंने सचिव से कहा था, लेकिन 20-25 दिन गुजर जाने के बाद भी सुनवाई नहीं हुई है।


Share it
Share it
Share it
Top