सिद्धार्थनगर के तेतरी बाजार का यह खंडहर ही है सरकारी स्कूल

सिद्धार्थनगर के तेतरी बाजार का यह खंडहर ही है सरकारी स्कूलपेड़ टूटकर स्कूल पर गिर गया मगर किसी को सुध नहीं है इसे हटाने की।

छात्र पत्रकार-सुप्रिया दूबे, कक्षा-12, राजकीय कन्या इण्टर कॉलेज, नौगढ़

सिद्धार्थनगर। जिला मुख्यालय स्थित राजकीय कन्या इण्टर कॉलेज का भवन व परिसर देखने पर किसी भूतिया खंडहर का अहसास होता है। कोई अंदाजा भी नहीं लगा सकता कि इस भवन में बच्चे पढ़ते होंगे। शासन प्रशासन की उपेक्षा से बदहाली के चलते छात्राओं व अभिभावकों का विद्यालय से मोहभंग हो रहा है।

राजकीय कन्या इण्टर कॉलेज जिला मुख्यालय के तेतरी बाजार क्षेत्र में स्थित है। वर्तमान में यहां मात्र 205 छात्राएं पढ़ती हैं। कम छात्र संख्या यूं ही नहीं है। दरअसल विद्यालय के मुख्य दरवाजे पर ही कीचड़ व जलभराव रहता है। भवन का चहारदीवारी भी पीछे से ध्वस्त हैं।

विद्यालय की छात्रा प्रिया साहनी कहती हैं, "कई बार हम लोग कीचड़ में फिसल कर गिर जाते हैं, जिससे ड्रेस व किताब कापी से भरा बैग गंदा हो जाता है और चोट भी लग जाती है। विद्यालय में साफ सफाई व शौचालय की व्यवस्था भी नही हैं।

विद्यालय कि प्राचार्या विभा चतुर्वेदी ने बताया कि अव्यवस्थाओं के सन्दर्भ में सभी उच्चधिकारियों को पत्र लिखा गया है। पिछले साल जिलाधिकारी ने भ्रमण कर विद्यालय की स्थिति भी देखी थी लेकिन अभी तक कोई सुधार नहीं हुआ।

छात्रा मनीषा रस्तोगी कहते हैं, "शौचालय ना होने के कारण छात्राओं को अपमानजनक स्थिति का सामना करना पड़ता है। अव्यवस्था का आलम यह है कि परिसर में बड़े-बड़े पेड़ गिरे पड़े हैं। जो भवन को भी नुकसान पहुंचा रहे हैं।

इस सन्दर्भ में जिला विद्यालय निरीक्षक सोमारू प्रधान ने बताया कि विद्यालय की व्यवस्था सुधारने के लिए क्लीन स्कूल के अर्न्तगत प्रस्ताव बना कर भेजा गया था। लेकिन शासन से स्वीकृत नहीं हुआ फिलहाल शौचालय निर्माण का कार्य चल रहा है।

"This article has been made possible because of financial support from Independent and Public-Spirited Media Foundation (www.ipsmf.org)."

Share it
Share it
Share it
Top