आग के साथ जली ग्रामीणों की गृहस्थी, लाखों का नुकसान

आग के साथ जली ग्रामीणों की गृहस्थी, लाखों का नुकसानघूर से उठी चिंगारी ने नौ परिवारों की गृहस्थी को राख कर दिया।

कन्नौज। घूर से उठी चिंगारी ने नौ परिवारों की गृहस्थी को राख कर दिया। लाखों के नुकसान के बाद भारी लपटों की वजह से कई मकानों में दरारें भी आ गई हैं।

कन्नौज जिले के थाना तालग्राम क्षेत्र के बेहटा गाँव में आग ने खूब तबाही मचाई। दोपहर को गाँव के ही एक घूरे पर अचानक आग सुलगने लगी। उसके बाद ग्रामीण कृपाल पुत्र भारत सिंह के घर को आग ने अपने आगोश में ले लिया, जिससे इनके यहां रखा घर का सामान और 50 हजार नकद भी जल गया। कुछ ही देर में कृपाल के भाई सोनपाल, श्रीकृष्ण पुत्र झब्बूलाल, दिलीप पुत्र श्रीकृष्ण, प्रेमनरायन पुत्र श्रीकृष्ण, सुरेंद्र पुत्र सरमन, सरमन पुत्र झब्बूलाल, रामविलास पुत्र सरमन और श्रीपाल पुत्र कन्हैयालाल के घरों में भी आग लग गई।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

गाँव वालों का कहना है कि जिस समय यह घटना हुई, वह खेतों में काम कर रहे थे। कुछ मवेशी चराने भी गए थे। सूचना पाकर प्रधान महेंद्र पाल और भाजपा नेत्री रेखा त्रिपाठी मौके पर पहुंचे। उन्होंने पुलिस को सूचना दी। एसडीएम उदयवीर सिंह, नायब तहसीलदार अवनीश, थानाध्यक्ष तालग्राम आरपी पांडेय व कानूनगो गयाप्रसाद समेत कई लोगों ने मौके पर पहुंचकर ग्रामीणों को सांत्वना दी।

पिछले साल भी इन्हीं घरों में आग ने मचाया था तांडव

13 अप्रैल 2016 को भी बेहटा गाँव के इसी मोहल्ले में आग ने तांडव मचाया था। उस दौरान 18 परिवार चपेट में आए थे, जिनमें यह नौ घर भी शामिल थे। उस समय 36 मवेशियों की भी मौत हो गई थी, कई झुलस गए थे। 10 महीने के अंतराल में दूसरा बड़ा झटका पीड़ितों को लगा है

भैंस लेने के लिए रखे 50 हजार रुपए जले

कृपाल सिंह भैंस खरीदने के लिए 50 हजार रुपए की व्यवस्था करके लाया था। उसने बताया कि दो-दो हजार के नए नोट थे। सभी आग में जलकर राख हो गए।

आग से काफी नुकसान हुआ है। नायब तहसीलदार और कानूनगो आदि राजस्व विभाग के लोग जांच कर रहे हैं। रिपोर्ट आने के बाद ही पता चल सकेगा, नुकसान कितना हुआ है। बैंक खुलने पर पीड़ितों के खातों में आर्थिक सहायता की धनराशि भेज दी जाएगी। फिलहाल आग के कारणों का पता नहीं चला है। हर पीड़ित को फिलहाल 25-25 किलो आलू, चावल और गेहूं मुहैया करा दिया गया है। कोटेदार से केरोसिन और राशन देने को भी कहा गया है।
उदयवीर सिंह, एसडीएम छिबरामऊ-कन्नौज

एक्सप्रेस-वे के टैंकर से चलाया काम

आगरा-लखनऊ प्रवेश नियंत्रित ग्रीन फील्ड प्रोजेक्ट एक्सप्रेस-वे निर्माण में लगे नागार्जुन कांट्रेक्टर कंपनी के पानी के टैंकरों से आग बुझाने में मदद मिली। बाद में फायर बिग्रेड की गाड़ी भी पहुंची। काफी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया जा सका।

Share it
Top