अंतरराष्ट्रीय योग महोत्सव: पांचवें दिन कुण्डलिनी साधना का अभ्यास

अंतरराष्ट्रीय योग महोत्सव: पांचवें दिन कुण्डलिनी साधना का अभ्यासयोगाभ्यास करते प्रतिभागी।

ऋषिकेश। अंतरराष्ट्रीय योग महोत्सव में पांचवें दिन परमार्थ निकेतन में प्रतिभागियों को सुबह चार बजे कुण्डलिनी साधना का अभ्यास कराया गया। अमेरिका से आए योग भजन के संचालक गुरुशब्द सिंह खालसा ने कुण्डलिनी साधना की जानकारी दी।

योग करते लोग।

सुबह नाश्ते के बाद हांग कांग आए योग गुरु दायलान और चेन्नई से आए टीए कृष्णनन ने युवा का योगा का अभ्यास कराया। बॉलीवुड हस्तियों को योगा सिखाने वालीं मुंबई से आईं योगाचार्य दीपिका मेहता ने योगा की एक श्रृंखला चलाई। सुबह के समय परमानंद अग्रवाल, शिल्पा जोशी, योग ऋिषी विश्वेक्टू, चरत सिंह और अमेरिका से आए अनांद्रा जार्ज ने गंगा किनारे योग की कई मुद्राओं से प्रतिभागियों को परिचित कराया।

महोत्सव में कई देशों के प्रतिभागियों ने लिया है भाग।

सुबह हल्के नाश्ते के बाद बगीचे में प्रसिद्ध कुंडलिनी योगाचार्य गुरुमुख कौर ने योग कराया। इसके अलावा अंष्टांग के शुरुआती आसन ऑस्ट्रेलिया से आए गुरु मार्क राबर्ड ने करवाए। इस मौके पर साध्वी भगवतजी ने कहा कि हम हमेशा दूसरों को दोष देते हैं जबकि हम अगर अपना-तुम्हारा छोड़ दें चारों ओर खुशहाली होगी।

वहीं डॉ ब्रूस लिप्टन ने कहा कि हम अपने सांसारिक शरीर के लिए दोषी नहीं हैं। हम प्रकृति द्वारा बनाए गए हैं। हम अपनी सोच से ऊर्जा का संचार कर सकते हैं। हमे एक जुट होना होगा और शांति के प्रयास करना होगा।

Share it
Share it
Share it
Top