मायावती के दफ्तर से पोस्टर हटा या कालाधन, हो रही है जांच: सिन्हा 

मायावती के दफ्तर से पोस्टर हटा या कालाधन, हो रही है जांच: सिन्हा रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा ।

बलिया (भाषा)। केंद्रीय संचार व रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा ने बसपा अध्यक्ष मायावती के खिलाफ अहम बयान देते हुए आज कहा कि नोटबंदी के फैसले के बाद मायावती के कार्यालय से पोस्टर हटाया गया था या कालाधन, इसकी जाँच हो रही है।

चुनाव से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

सिन्हा ने बलिया जिले के सिकन्दरपुर में आज एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कहा कि पिछले साल आठ नवंबर को नोटबंदी के फैसले के बाद मायावती के कार्यालय में खलबली मच गयी थी। उस वक्त मायावती के कार्यालय से कोई पोस्टर हटाया गया था या कालाधन ठिकाने लगाया गया, इसकी जांच की जा रही है, हालांकि उन्होंने इस बारे में विस्तार से कोई जिक्र नहीं किया कि मायावती के कार्यालय से कौन सा पोस्टर हटाया गया था और कौन इसकी जांच कर रहा है। बसपा व सपा पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने सपा पर प्रहार करते हुए कहा कि अखिलेश राज में मुलायम राज से भी अधिक आतंक राज है।

सिन्हा ने बसपा पर हमला करते हुए कहा कि दाऊद इब्राहिम की संपत्ति भारत की संपत्ति घोषित होगी। इस कार्य में कानूनी प्रक्रिया के कारण विलंब हो रहा है। ठीक उसी तरह बसपा नेता माफिया मुख्तार अंसारी की बेनामी संपत्ति भी जब्त होगी। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव के ‘काम बोलता है' के नारे पर तंज कसते हुए उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री अखिलेश की विदाई की बेला है। चुनाव बाद उन्हें सैफई में हॉलीवुड और बॉलीवुड का ही लुत्फ उठाना है। नोटबंदी को राष्ट्र हित में सोच समझ कर लिया गया फैसला करार देते हुए उन्होंने कहा कि मोदी सरकार यह निर्णय नहीं लेती तो कोई दूसरा दल ऐसा फैसला लेने का साहस नहीं जुटा पाता।

Share it
Share it
Share it
Top