दिल्लीः दो से अधिक बच्चे हैं तो सलवान स्कूल में नहीं मिलेगा प्रवेश

दिल्लीः दो से अधिक बच्चे हैं तो सलवान स्कूल में नहीं मिलेगा प्रवेशस्कूल के अनुसार, वह लोगों को कम बच्चे पैदा करने के लिए प्रेरित करने के उद्देश्य से ऐसे माता-पिता के बच्चों को अपने यहां प्रवेश नहीं देगा।

नई दिल्ली (भाषा)। दिल्ली के एक प्रमुख स्कूल ने अपने यहां शर्त रखी है कि वह ऐसे माता पिता के बच्चों को प्रवेश नहीं देगा, जिनकी दो से अधिक संतानें हैं।

स्कूल के अनुसार, वह लोगों को कम बच्चे पैदा करने के लिए प्रेरित करने के उद्देश्य से ऐसे माता-पिता के बच्चों को अपने यहां प्रवेश नहीं देगा। पश्चिम दिल्ली के राजेंद्र नगर स्थित सलवान स्कूल ने अपनी दो शाखाओं (सलवान मॉन्टेसरी और जीडी सलवान) द्वारा जारी रजिस्ट्रेशन फॉर्म में यह शर्त रखी है।

इस फॉर्म में कहा गया है कि ऐसे माता पिता को अपने बच्चों के लिए आवेदन करने की जरुरत नहीं है जिनकी दो से अधिक संतानें हैं। यह शर्त उन शिक्षकों के लिए भी लागू है जो इस स्कूल में अध्यापन के लिए आवेदन करना चाहते हैं। अगर उनके दो से अधिक बच्चे हैं तो वह इस स्कूल में नौकरी के लिए आवेदन नहीं कर सकते।

यह नियमन देश में बढ़ती आबादी को ध्यान में रख कर किया गया है। यह, लोगों को कम बच्चे पैदा करने के लिए प्रेरित करने का हमारा तरीका है।
सुशील सलवान, अध्यक्ष, सलवान समूह

दिल्ली सरकार ने अभिभावकों की शिक्षा, उनकी उम्र, मौखिक परीक्षा और साक्षात्कार जैसे मनमाने तरीकों पर रोक लगाने के लिए पिछले साल दिशानिर्देश जारी किए थे। बहरहाल, सलवान स्कूल की शर्त का सूची में कोई जिक्र नहीं है।

298 निजी स्कूलों की दाखिला प्रक्रिया के साथ ही नर्सरी में दो जनवरी से प्रवेश प्रक्रिया शुरु हो गयी है जबकि ईडब्ल्यूएस और डीजी श्रेणियों के लिए 10 जनवरी से प्रक्रिया आरंभ हो गई है। पहली श्रेणी के लिए आवेदन 23 जनवरी तक जबकि शेष दो श्रेणियों के लिए 31 जनवरी तक आवेदन दिए जा सकते हैं। पहली सूची 28 फरवरी को और अन्य दो सूचियां 15 मार्च और 31 मार्च को प्रदर्शित की जाएंगी।

Share it
Share it
Share it
Top