हक मांगा तो शिक्षकों पर चलीं लाठियां

हक मांगा तो शिक्षकों पर चलीं लाठियांलखनऊ में सोमवार को शिक्षकों पर लाठियां भांजती पुलिस।

लखनऊ। एक बार आज फिर शिक्षकों को लाठी की मार झेलनी पड़ी। प्राइमरी स्कूलों से जुड़े लोक प्रेरक शिक्षक संघ ने सोमवार को जब अपनी मांगों के हक में आवाज उठायी तो उन पर लाठियां बरसायी गयीं। विधानसभा का घेराव करने जा रहे हजारों की संख्या में लोक प्रेरक शिक्षकों में कई लोग जख्मी हुए, जिस समय शिक्षक विधानसभा का घेराव करने पहुंचे।

उस समय सीएम अखिलेश यादव लोक भवन से बाहर निकल रहे थे। विधानसभा का घेराव करने जा रहे शिक्षकों को कड़ी मशक्कत के बाद प्रशासन ने भाजपा कार्यालय के सामने रोका, जिसके बाद शिक्षक सड़क पर ही धरने पर बैठ गए और सरकार विरोधी नारे लगाने लगे। वहां से चलता न कर पाने की परेशानी के चलते प्रशासन ने शिक्षकों पर लाठीचार्ज कर दिया, जिसमें कई शिक्षक जख्मी हो गए। जख्मी शिक्षकों को सिविल हॉस्पिटल ले जाया गया, जहां प्राथमिक इलाज उनको छुट्टी दे दी गई। लोक प्रेरक शिक्षक संघ के सचिव राकेश कुमार ने कहा कि हमारी मांग है कि हम लोगों को मानदेय के रूप में दो हजार रुपए की जगह 18 हजार रुपए दिए जाएं। साथ ही हमारी नियुक्ति स्थायी की जाए और 13 महीनों का वेतन बकाया है उसका भुगतान किया जाए। जब तक हम लोगों की मांगे पूरी नहीं होती हैं तब तक हम लोग लखनऊ नहीं छोड़ेंगे।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top