पीएम नरेंद्र मोदी ने एप के जरिये नोटबंदी पर सीधे जनता से मांगी राय 

पीएम नरेंद्र मोदी ने एप के जरिये नोटबंदी पर सीधे जनता से मांगी राय नरेंद्र मोदी 

नई दिल्ली। आठ नवंबर की शाम को पुराने 1000 और 500 रुपए के नोट अमान्य घोषित करने की घोषणा के बाद से विपक्ष का विरोध झेल रहे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अब सीधे जनता से राय मांगी है। ‘नरेंद्र मोदी’ एप पर एक सर्वे शुरू किया गया है। इसमें जनता से 9 सवाल पूछे गए हैं। साथ ही लोगों से सुझाव भी मांगे हैं। मोदी ने लोगों से सर्वे में ज्यादा से ज्यादा शामिल होने की अपील की है।

मोदी का यह कदम विपक्ष को जवाब देने की कोशिश के तौर पर देखा जा रहा है। सर्वे को लेकर मोदी के ट्वीट के बाद एप इतना बिजी हुआ कि कई बार इसकी स्पीड ही डाउन हो गई। वहीं, काले धन और भ्रष्टाचार के खिलाफ महायुद्ध के लिए BJP संसदीय दल ने सर्वसम्मति से प्रस्ताव पारित कर मोदी को बधाई दी है। पार्टी सांसदों को संबोधित करते हुए तीन मौकों पर मोदी की आंखों से आंसू छलके। उन्होंने कहा कि नोटबंदी पर विपक्ष अफवाहें फैला रहा है। उन्होंने कहा कि बड़े नोट अमान्य करने का निर्णय कालेधन और भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई का अंत नहीं, बल्कि शुरुआत है। साथ ही सांसदों को नसीहत दी कि नोटबंदी को सर्जिकल स्ट्राइक ना कहें।

नरेंद्र मोदी एप में पूछे गए सवाल

1. क्याआपको लगता है भारत में कालाधन है?

2. क्या आपको लगता है कि कालेधन और भ्रष्टाचार जैसी बुराइयों से लड़ने की जरूरत है?

3. कालेधन के खिलाफ अब तक मोदी सरकार द्वारा किए गए प्रयास पर आप क्या कहेंगे?

4. भ्रष्टाचार के खिलाफ अब तक मोदी सरकार द्वारा की गई कार्रवाई पर आप क्या कहेंगे?

5. मोदी सरकार द्वारा 500-1000 की नोटबंदी के कदम पर आपकी क्या राय है?

6. क्या लगता है कि नोटबंदी कालेधन, भ्रष्टाचार आतंकवाद पर लगाम लगाने में कारगर है?

7. नोटबंदी से रियल एस्टेट, उच्च शिक्षा और स्वास्थ्य सेवाओं आम जन की पहुंच में जाएंगी?

8. भ्रष्टाचार, काले धन, आतंकवाद के खिलाफ की गई इस कार्रवाई से क्या आपको असुविधा का सामना करना पड़ा?

9. क्या लगता है कि भ्रष्टाचार का विरोध करने वाले अब कालेधन, भ्रष्टाचार और आतंकवाद के समर्थन में लड़ाई लड़ रहे हैं?

10. क्या आप प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को कोई सुझाव देना चाहेंगे?

Share it
Share it
Share it
Top