एमएलसी संतोष यादव सनी के ठिकानों पर छापा

एमएलसी संतोष यादव सनी के ठिकानों पर छापासंतोष यादव सनी का आफिस जहाँ प्रवर्तन विभाग ने मारा छापा  

लखनऊ। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के नजदीकी समाजवादी पार्टी एमएलसी संतोष यादव ‘सनी’ के ठिकानों पर शनिवार को डायरेक्ट्रेट ऑफ सेंट्रल एक्साइज इंटेलीजेंस की टीम ने छापा मारा। सपा नेता सनी यादव के बारे में सूचना थी कि उनकी सिक्योरिटी कंपनी में कर्मचारियों को बंद हो चुके 500 और 1000 रुपए के पुराने नोट बांटे गए थे। सूत्रों के मुताबिक, सनी के दफ्तरों से ईडी ने करोड़ों रुपये के पुराने नोटों की करेंसी बरामद की है। इसमें एक करोड़ की टैक्स चोरी प्रथम दृष्टया सामने आई है।

लखनऊ के कई बड़े संस्थानों में मैन पावर का जिम्मा

संतोष यादव ‘सनी’ बस्ती से सपा एमएलसी हैं। संतोष यादव का अपना ग्रुपमैन पावर सप्लाई के नाम से कंपनी है, जो यूपी के कई सरकारी और गैर सरकारी दफ्तरों में काम करती है। वहीं राजधानी लखनऊ के लोहिया अस्पताल में भी ‘अपना ग्रुप’ नाम की कंपनी काम कर रही है। लोहिया अस्पताल में मैन पावर का जिम्मा संभालने वाले बस्ती से सपा के एमएलसी संतोष यादव के दफ्तर में डायरेक्ट्रेट ऑफ सेंट्रल एक्साइज इंटेलीजेंस का छापा। संतोष के ऊपर लोहिया अस्पताल के संविदा कर्मचारियों को 2 महीने की सैलरी का भुगतान पुराने नोटों में करने की शिकायत इंटेलीजेंस को मिली थी। जिसके बाद से इस पूरी कार्यवाही को अंजाम दिया जा सका। संतोष के लखनऊ, नोएडा सहित कई शहरों में अपना ग्रुप नाम से कंपनी चलती है। लखनऊ के कई बड़े संस्थानों में मैन पावर का जिम्मा इसके पास ही है।

सीएम अखिलेश के करीबी

संतोष सीएम अखिलेश यादव का बेहद ही करीबी है और बस्ती से सपा का एमएलसी है। छापे में करोड़ों रुपये और काफी मात्रा में कागजात दफ्तर से जब्त किये हैं। संतोष के चक्कर में राजकिशोर सिंह की बेटी का टिकट काट दिया गया था और सनी को बस्ती से टिकट दिया गया था। सनी की कम्पनी अपना ग्रुप में कई नेताओं की ब्लैक मनी लगने का भी इंटेलीजेंस को अंदेशा है। संतोष पहले ठेकेदारी का काम करता था। अब अपना ग्रुप नाम से कम्पनी चलाता है।

Share it
Share it
Share it
Top