आगरा एक्सप्रेस वे पर उतारे गए सुखोई विमान 

आगरा एक्सप्रेस वे पर उतारे गए सुखोई विमान आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे पर उतरा सुखोई विमान।

लखनऊ। आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे पर शुक्रवार को वायु सेना के आठ सुखोई विमानों को उतार कर एयर स्ट्रिप का परीक्षण किया गया। आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे का लोकार्पण सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव के जन्मदिन पर 22 नवम्बर को होना है। आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे मुख्यमंत्री के ड्रीम प्रोजेक्टस में से एक है। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने पिछले दिनों कहा था कि आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे नेताजी (मुलायम सिंह) के जन्मदिन पर सौगात दिया जाएगा। मगर प्रमुख सचिव सूचना और निर्माणकर्ता कंपनी यूपीडा के चेयरमैन नवनीत सहगल के एक्सीडेंट के बाद ये तारीख बदली भी जा सकती है।

एक्सप्रेस वे में बनने वाली देश की पहली एयर स्ट्रिप

302 किलोमीटर लंबे देश के सबसे बड़े आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे के बीच रास्ते में एयर स्ट्रिप बनाई गई है। देश के किसी भी एक्सप्रेस वे में बनने वाली यह इकलौती एयर स्ट्रिप है। इस स्ट्रिप पर फाइटर प्लेन के उतरने के बाद भी यहाँ का ट्रैफिक नहीं रुकेगा। आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे पर तीन किलोमीटर लंबी और 35 मीटर चौड़ी एयर स्ट्रिप बनाई गई है। इस एयर स्ट्रिप की खास बात यह है कि इस स्ट्रिप पर फाइटर प्लेन के उतरने के बावजूद यहाँ का ट्रैफिक नहीं रुकेगा। इसके लिए इस स्ट्रिप के दोनों ओर बगल से चौड़ी रोड बनाई गई है। इस एयर स्ट्रिप के किनारे एयर ट्रैफिक कंट्रोल ऑफिस भी तैयार हो रहा है। लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस वे 10 जिलों से गुज़रते हुए लखनऊ और आगरा को जोड़ेगा।

दोनों शहरों की दूरी होगी कम

इसके बनने से दोनों शहरों के सड़क मार्ग की दूरी 302 किमी से घटकर लगभग 270 किमी हो गई है। जिससे अब यात्रियों का सफर सरल हो गया है। आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे के निर्माण से गांव के किसान भी देश और प्रदेश की राजधानी से जुड़ेंगे और कच्ची फसलों को सही समय पर मंडी पहुंचा कर अच्छे मूल्यों पर बेच सकेंगे।

Share it
Top