जयललिता की हालत बेहद गंभीर बनी हुई है : अपोलो

जयललिता की हालत बेहद गंभीर बनी हुई है : अपोलोतमिलनाडु की मुख्यमंत्री जे जयललिता।

चेन्नई (भाषा)। तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जे जयललिता की हालत बेहद गंभीर बनी हुई है और उन्हें विभिन्न जीवन रक्षक उपकरणों पर रखा गया है, उन्हें बीती शाम दिल का दौरा पड़ा था। अपोलो अस्पताल ने आज यह जानकारी दी।

अस्पताल के मुख्य संचालन अधिकारी सुबिहा विश्वनाथन ने एक बयान में बताया कि बीती शाम दिल का दौरा पड़ने के बाद जयललिता की हालत ‘‘ लगातार बेहद गंभीर बनी हुई है और वह ईसीएमओ तथा अन्य जीवन रक्षक उपकरणों पर हैं।''

उन्होंने बताया, ‘‘ माननीय मुख्यमंत्री का इलाज किया जा रहा है और विशेषज्ञों की एक टीम उनकी गहन निगरानी कर रही है।'' 68 वर्षीय जयललिता को एक्स्ट्राकोरपोरियल मैम्ब्रेन आक्सीजीनेशन पर रखा गया है जो कि एक हृद्य को मदद करने वाला उपकरण है।विशेषज्ञों समेत विभिन्न विशेषज्ञ उनकी हालत पर नजर रख रहे हैं। कुछ समय से बीमार चल रही मुख्यमंत्री की सेहत में पिछले कुछ दिनों में सुधार देखा गया था लेकिन कल शाम उन्हें दिल का दौरा पड़ गया।

केरल-तमिलनाडु सीमा पर सुरक्षा कड़ी

तिरुवनंतपुरम (आईएएनएस)। तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जे.जयललिता को रविवार को दिल का दौरा पड़ने के बाद सोमवार को उनकी गंभीर हालत के मद्देनजर केरल-तमिलनाडु सीमा पर सुरक्षा बढ़ा दी गई। प्रसिद्ध सबरीमाला मंदिर सहित केरल के विभिन्न स्थानों पर सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

केरल पुलिस ने तिरुवनंतपुरम, कोल्लम, इडुक्की और पलक्कड़ जैसे सीमावर्ती जिलों में सेना की तैनाती बढ़ा दी है। पुलिस ने पहाड़ी की चोटी पर स्थित प्रसिद्ध सबरीमाला मंदिर के कुछ क्षेत्रों में सुरक्षा कड़ी कर दी है और किसी अप्रिय घटना से बचने के लिए परिसर के आसपास रस्सी बांध दी गई है।

तमिलनाडु से बड़ी संख्या में तीर्थयात्री दो माह के लंबे त्योहार के लिए मंदिर में दर्शन करने आते हैं, जिसकी शुरुआत नवंबर से होती है। तमिल लोगों के एक लोकप्रिय पर्यटन और कार्य स्थल मुन्नार में भी केरल पुलिस ने अतिरिक्त सुरक्षा बढ़ा दी है। जयललिता की हालत खराब होने की रिपोर्ट आने के बाद से केरल के अधिकारी स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं।

जयललिता खतरे से बाहर हैं, पर आईसीयू में हैं।
जेपी नड्डा, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री

Share it
Top