10 लाख में ऑनलाइन बिक रहे 786 सीरीज वाले वैध नोट

Ashish DeepAshish Deep   17 Nov 2016 4:12 PM GMT

10 लाख में ऑनलाइन बिक रहे 786 सीरीज वाले वैध नोटईबे की साइट पर बिक रहे वैध नोट।

लखनऊ। जनता के 500-1000 रुपए के पुराने नोट बदलने की जद्दोजहद के बीच ये खबर सुनकर आप उछल जाएंगे। कुछ शरारती लोगों ने 10 रुपए से लेकर 2000 रुपए तक के नए नोटों की ऑनलाइन बिक्री शुरू कर दी है और एक-एक नोट की कीमत लाखों में है। उन्होंने सामानों की ऑनलाइन बिक्री करने वाली साइट 'ईबे' पर अपनी लिस्टिंग डाली है।

इसमें एक रुपए, दो रुपए, 10 रुपए, 20 रुपए, 50 रुपए और 100 रुपए के नोट बिक्री के लिए उपलब्ध हैं। साइट पर इन नोटों की बिक्री करने वालों का कहना है कि नोट की सीरीज में 786 दर्ज है जो शुभांक है।

2000 रुपए के नए नोट की कीमत डेढ़ लाख रुपए

ईबे का 'क्वाइंस एंड नोट' वर्ग का 'इंडियन नोट' कॉलम उन सिक्कों और नोटों की बिक्री के लिए है जो एंटीक यानि पुरातन अवशेष हैं चलन से बाहर हो चुके हैं, लेकिन शरारती लोगों ने इस वर्ग में वैध नोटों की बिक्री शुरू कर दी है।

2000 रुपए के नए नोट, जोकि 786 सीरीज का है, के लिए एक ब्रिक्रीकर्ता ने एक लाख 51 हजार रुपए कीमत रखी है। उसने अपनी लिस्टिंग में विशेष रूप से यह बात दर्ज की है कि यह नोट बेशकीमती है क्योंकि इसकी सीरीज में 786 दर्ज है। मान्यता के अनुसार '786' का अर्थ 'बिस्मिल्लाह' यानि 'अल्लाह के नाम से शुरू करता हूं' होता है।

फ्री शिपिंग और अधिक अंक कमाने का झांसा

साइट पर नोटों की डिलिवरी के साथ लिखा है- 'फ्री शिपिंग' यानि कोरियर का कोई चार्ज नहीं लगेगा। भुगतान के लिए क्रेडिट या डेबिट कार्ड किसी से भी भुगतान कर सकते हैं।

यही नहीं साइट पर ग्राहकों को लुभाने के लिए अधिक से अधिक अंक कमाने का झांसा दिया जा रहा है। मसलन 100 रुपए के एक वैध नोट की कीमत दस लाख रुपए है। अगर कोई ग्राहक इसे खरीदता है तो उसे 40 हजार प्वाइंट मिल जाएंगे जिससे वह साइट पर बिक्री के लिए पोस्ट अन्य सामान भी खरीद सकता है। ईबे हालांकि इस बिक्री की कोई गारंटी नहीं ले रहा। साइट पर साफ शब्दों में दर्ज है कि 'इन नोटों की लिस्टिंग की पूरी जिम्मेदारी बिक्रीकर्ता की है'।

ऐसी अवैध लिस्टिंग से अनजान है साइट प्रशासन

ईबे साइट के कस्टमर केयर नंबर 1800-209-3229 पर जब गाँव कनेक्शन ने संपर्क किया तो कस्टमर केयर एक्जीक्यूटिव प्रियंका ने लिस्टिंग का eBay item number:262697715299 पूछा। नंबर बताने पर उन्होंने कहा कि हां, यह लिस्टिंग सही है।

जब संवाददाता ने सवाल किया कि भारत में नोट बेचना अवैध है तो एक्जीक्यूटिव ने संबंधित विभाग में आपत्ति दर्ज कराने का सुझाव दिया। संवाददाता ने पूछा कि ऐसी लिस्टिंग साइट से कब तक हट जाएगी तो एक्जीक्यूटिव ने कहा-संबंधित विभाग इस पर कार्रवाई करेगा लेकिन इसे गुप्त रखा जाएगा।

कानूनन जुर्म है नोट बेचना

आरबीआई के मुताबिक अगर कोई व्यक्ति वैध मुद्रा बेचता हुआ पाया जाता है तो यह कानूनन जुर्म है। उस पर कानूनी कार्रवाई होगी। लोग सिक्के गलाकर उसके धातु को ऊंची कीमत में बेच देते हैं। यह भी अवैध है।

आईसीआईसीआई बैंक के एक शाखा प्रबंधक ने नाम गुप्त रखने की शर्त पर कहा कि नोट बेचना अवैध है।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top