न्यूजीलैंड के नए प्रधानमंत्री बिल इंग्लिश, नई उप प्रधानमंत्री पाउला बेनेट चुने गए

न्यूजीलैंड के नए प्रधानमंत्री बिल इंग्लिश, नई उप प्रधानमंत्री पाउला बेनेट चुने गएन्यूजीलैंड के नए प्रधानमंत्री बिल इंग्लिश व न्यूजीलैंड की नई उप प्रधानमंत्री पाउला बेनेट।

वेलिंगटन (आईएएनएस/सिन्हुआ)। न्यूजीलैंड के उप प्रधानमंत्री के रूप में पद भार संभाल चुके बिल इंग्लिश (54 वर्ष ) देश के नए प्रधानमंत्री होंगे। वह जॉन की जगह पद भार संभालेंगे। समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने पार्टी के हवाले से बताया कि, न्यूजीलैंड की नई उप प्रधानमंत्री पाउला बेनेट होंगी।

जॉन की के इस्तीफे की घोषणा के एक सप्ताह बाद संसदीय कॉकस ने इंग्लिश का चुनाव किया। इंग्लिश ने जोर देते हुए कहा कि सरकार आठ वर्ष पूर्व जॉन द्वारा शुरू की गई नीतियों का ही अनुसरण करेगी।

इंग्लिश ने कहा कि आर्थिक विकास मंत्री स्टीवन जोईस वित्त मंत्री का पद्भार संभालेंगे लेकिन उन्होंने मंत्रिमंडल में किसी तरह के बदलाव से इनकार किया।

साल 2008 में नेशनल पार्टी के सत्ता में आने के बाद इंग्लिश देश के उप प्रधानमंत्री और वित्त मंत्री थे। साल 1990 में संसद में निर्वाचित होने से पहले साउथ आइसलैंड में एक किसान और न्यूजीलैंड ट्रेजरी में विश्लेषक थे।

इंग्लिश अगले साल सितंबर में होने वाले आम चुनाव में सरकार का नेतृत्व करेंगे। वह 2001 में नेशनल पार्टी के नेता बने थे और उनके नेतृत्व में 2002 के चुनाव में पार्टी को करारी हार मिली थी।

इंग्लिश ने खुद को एक 'सक्रिय कैथोलिक' के रूप में उल्लेखित किया था। उन्होंने कहा कि न्यूजीलैंड, अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के साथ अपने 'नाजुक' संबंधों को मजबूती देना जारी रखेंगे।

बिल इंग्लिश ने कहा, ‘‘यह आर्थिक विकास का समर्थन करने वाली सरकार होगी और इस बात को सुनिश्चित किया जाएगा कि विकास के लाभों को व्यापक स्तर पर साझा किया जाए।''

नेशनल पार्टी अध्यक्ष पीटर गुडफेलो ने कहा, ‘‘बिल एवं पाउला बेहतरीन नेता हैं जो अनुभव एवं नई सोच का अच्छा मिश्रण हैं।'' उन्होंने कहा, ‘‘उनके नेतृत्व में न्यूजीलैंडवासियों को, जैसा कि वे उम्मीद करते हैं, स्थायी सरकार से लाभ मिलते रहेंगे और यह सरकार परिवारों एवं व्यापारियों के लिए अच्छे परिणाम देने पर समर्पण भाव से ध्यान देती रहेगी।''

पेशे से किसान रहे इंग्लिश के पास वाणिज्य एवं साहित्य में उपाधियां हैं। वह वर्ष 1990 के बाद से संसद में हैं और वर्ष 2002 में नेशनल पार्टी के नेता थे। तब पार्टी को चुनाव में करारी हार मिली थी।इंग्लिश वर्ष 2017 के अंत में चुनाव में खड़े होंगे और नेशनल पार्टी को चुनाव में लगातार चौथी बार जीत दिलाने की कोशिश करेंगे।

उन्होंने कहा, ‘‘आप जीत के बजाए हार से अधिक सीखते हैं।'' इंग्लिश ने कहा कि न्यूजीलैंड की समृद्धि का अर्थ है कि देश में ऐसे असंतुष्ट मतदाता नहीं हैं जो ब्रेक्जिट एवं अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की जीत के लिए जिम्मेदार हैं.

उन्होंने कहा कि उनकी सरकार की प्राथमिकता यह है कि सर्वाधिक जरुरतमंदों को अवसर दिए जाएं। इंग्लिश ने कहा, ‘‘हमारी मजबूत अर्थव्यवस्था है जो विकसित देशों में लगभग सबसे अनूठी है और अधिकतर न्यूजीलैंडवासी इसमें योगदान देना पसंद करेंगे।''

इंग्लिश एक कैथोलिक हैं, उनके छह बच्चे हैं, की की तुलना में इंग्लिश सामाजिक रूप से अधिक रुढिवादी हैं। उन्होंने वर्ष 2013 में समलैंगिक विवाह को वैध बनाने का विरोध किया था और वह गर्भपात एवं इच्छामृत्यु के खिलाफ अपने विचार रख चुके हैं।

इंग्लिश से जब उनकी आस्था के बारे में पूछा गया, तो उन्होंने उत्तर दिया, ‘‘यह मुझे परिभाषित नहीं करती लेकिन इसका मुझ पर काफी प्रभाव है।'' उन्होंने कहा कि वह समलैंगिक विवाह के सकारात्मक प्रभाव को देखते हुए इसे अब समर्थन देते हैं।

प्रधानमंत्री के तौर पर आठ साल और पार्टी नेता के तौर पर 10 साल तक सेवाएं देने के बाद की ने पारिवारिक कारणों से इस्तीफा दे दिया था। की ने कहा, ‘‘मुझे नहीं लगता कि बिल इंग्लिश के प्रशासन में एकदम अलग एजेंडा अपनाया जाएगा।

Share it
Share it
Share it
Top