लखनऊ में जल्द होगा क्रिकेट स्टेडियम का आगाज

लखनऊ में जल्द होगा क्रिकेट स्टेडियम का आगाजलखनऊ में सुलतानपुर रोड स्थित शहीद पथ पर बन रहा अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम। फोटो: विनय गुप्ता।

लखनऊ। राजधानी में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम का लोकार्पण अगले एक महीने के भीतर हो जाएगा। यहां काम अब अंतिम दौर में चल रहा है। आचार संहिता लागू होने से पहले अगले महीने आईएएस वीक के दौरान मुख्यमंत्री और आईएएस एकादश के बीच यहां मैच भी भव्य स्तर पर खेले जाने की तैयारी की जा रही है।

दिसंबर 2013 में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने घोषणा की थी कि 2017 में लखनऊ को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट कला स्टेडियम मिल जाएगा। इस स्टेडियम को बनाने में पांच सौ करोड़ रुपए खर्च होंगे। लखनऊ स्थित सुलतानपुर रोड के स्थित शहीद पथ पर बन रहे इस स्टेडियम में अंतरराष्ट्रीय क्रिकट मैचों के आयोजन के साथ-साथ नए खिलाड़ियों को ट्रेनिंग भी दी जाएगी। यह स्टेडियम सार्वजनिक एवं निजी भागीदारी मॉडल पर बन रहा है। खेल परिसर 70 एकड़ में होगा।

ये होंगी स्टेडियम की खासियतें

  • गोमतीनगर विस्तार में करीब 70 एकड़ क्षेत्रफल में यह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम बनाया जा रहा है।
  • पिच बनाने के लिए महाराष्ट्र और ओडिसा (उड़ीसा) से मिट्टी मंगाई गई है।
  • स्टेडियम को इकाना स्पोर्टस कंपनी बना रही है। ग्राउंड 90 मीटर का सर्किलनुमा होगा।
  • खिलाड़यों के लिए ड्रेसिंग रूम पूरब दिशा में बनाया जाएगा।
  • लार्डस क्रिकेट ग्राउंड से अधिक होगी दर्शकों के बैठने की क्षमता
  • स स्टेडियम में दर्शकों के बैठने के लिए लार्डस के मैदान से भी ज्यादा क्षमता होगी।
  • लार्डस ग्राउंड में 28 हजार लोगों के बैठने की क्षमता है, जबकि इस स्टेडियम की क्षमता 50 हजार होगी।
  • स्टेडियम में कॉरपोरेट बिजनेस बॉक्स, कवर्ड एसी पवेलियन के साथ दोनों टीमों के लिए दो बड़े ड्रेसिंग रूम होंगे।
  • इसके अलावा कमेंटेटर बॉक्स और आईसीसी बॉक्स के साथ ही अम्पायर बॉक्स भी बनेंगे।
  • मीडिया सेंटर भी बनाया जाएगा, जहां बैठकर पत्रकार मैच का कवरेज करेंगे।
  • इसके साथ विश्व स्तरीय फ्लड लाइट भी लगाई जाएगी।
  • स्टेडियम में गेस्ट रूम भी बनाया जाएगा। फिजियोथैरेपी और डोप टेस्टिंग लैब की भी सुविधा होगी।
  • दर्शकों को दिक्कत न हो, इसके लिए स्टेडियम में करीब 25 इंट्री गेट गेट बनाए जाएंगे।
  • मीडिया, खिलाड़ियों और वीआईपी लोगों के लिए अलग-अलग गेट बनाए जाएंगे।

Share it
Top