मंगलयान पर जाने के लिये 1 लाख भारतीयों ने कराया आवेदन, 5 मई 2018 से शुरू होगा मिशन

मंगलयान पर जाने के लिये 1 लाख भारतीयों ने कराया आवेदन, 5 मई 2018 से शुरू होगा मिशनग्लोबल लिस्ट में भारत तीसरे नंबर पर है।

लखनऊ। दुनिया भर से लोगों ने मंगल पर जाने के लिए रजिस्ट्रेशन कराने शुरू कर दिए हैं। भारत से करीब एक लाख लोगों ने अमेरिकी स्पेस एजेंसी नासा (NASA) के 'इनसाइट मिशन' (इंटीरियर एक्सप्लोरेशन यूसिंग सिस्मिक इंवेस्टीगेशन्स, जीओडेसी एंड हीट ट्रांसपोर्ट) के तहत अपना रजिस्ट्रेशन कराया है।

5 मई 2018 को शुरू होगा मिशन

नासा का 'इनसाइट मिशन' 5 मई 2018 को शुरू होगा। जिन्होंने मंगल पर जाने के लिए बुकिंग कराई है, उन्हें नासा की तरफ से ऑनलाइन 'बोर्डिंग पास' भी दिया जाएगा।

इंटरनेट के जरिए मिलेगा बोर्डिंग पास

टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक, जिन लोगों ने मंगल पर जाने के लिए बुकिंग कराई है, उन्हें नासा की तरफ से ऑनलाइन 'बोर्डिंग पास' दिया जाएगा। नासा को मंगल पर जाने के लिए दुनियाभर से कुल 24 लाख 29 हजार 807 आवेदन मिले हैं। जबकि भारत से करीब 1 लाख लोगों ने मंगल मिशन पर जाने के लिए आवेदन किए हैं। इनमें ग्लोबल लिस्ट में भारत तीसरे नंबर पर है।

लिस्ट में पहला नाम अमेरिका का है। यहां से 6 लाख 76 हजार 773 लोगों ने रजिस्ट्रेशन कराया है। वहीं, चीन ने 2 लाख 62 हजार 752 लोगों ने बुकिंग कराई है। नासा के मुताबिक, जिन लोगों का रजिस्ट्रेशन हुआ है, उन नामों को एक सिलिकॉन माइक्रोचिप पर इलेक्ट्रोन माइक्रोबिम के जरिए लिखा जाएगा। नाम का अक्षर इंसानी बाल के एक हजारवें हिस्से से भी पतला होगा। मंगल पर जाने वाले लोगों के शरीर पर इस चिप को लगाया जाएगा।

720 दिन का है मिशन

स्पेस एक्सपर्ट ने कहा स्वाभाविक है कि मंगल ग्रह जाने वालों में सबसे अधिक अमेरिकी हैं, क्योंकि ये अमेरिका के नासा का मिशन है। लेकिन, जिस तरह से चीन के बाद भारत तीसरे स्थान पर है वह काफी अहमियत रखता है। मंगल ग्रह के लिए रवाना होने वाली फ्लाइट 5 मई को निकलेगी और 26 नवंबर 2018 को मंगल ग्रह पर पहुंचेगी। ये मिशन 720 दिनों का है।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top