इस स्केच ने बच्ची के साथ बलात्कार करने वाले को पहुंचाया जेल

इस स्केच ने बच्ची के साथ बलात्कार करने वाले को पहुंचाया जेल10 वर्ष की बच्ची ने स्केच बनाकर बलात्कारी चाचा को दिलवाई सजा।

नई दिल्ली। दो साल पहले हुई एक 10 साल की बच्ची के साथ रेप मामले में बच्ची द्वारा बनाए गए एक स्केच के आधार पर कोर्ट ने आरोपी को 5 साल की सजा सुनाई। रेप पीड़ित बच्ची के स्केच ने आखिरकार उसके रेपिस्ट अंकल को सजा दिलवा दी। बच्ची का यह स्केच अहम सबूत साबित हुआ।

पीड़िता कोलकाता की निवासी है। उसकी मां की मौत हो चुकी थी और पिता शराबी था। मां की मौत के बाद पिता उसका अच्छे से पालन पोषण नहीं कर रहा था जिस वजह से उसकी आंटी उसे दिल्ली ले आईं।

जब पीड़िता आंटी के घर आई थी तो उसकी उम्र 8 साल थी उसी दौरान उसके अंकल अख्तर अहमद ने उसके साथ कई बार बलात्कार किया। पुलिस ने आरोपी अख्तर को 4 जून 2016 को गिरफ्तार कर लिया।

लेकिन इस मामले में दोषी अख्तर के वकील ने उसके पक्ष में दलील पेश करते हुए कहा था कि लड़की को 'सक्षम गवाह' नहीं माना जा सकता, क्योंकि उसकी उम्र काफी कम है।

स्केच बनाकर बच्ची ने बयां की दरिंदगी की दास्तान

इस केस ने तब यू टर्न लिया जब सुनवाई के दौरान अदालत में ही पीड़िता ने एक स्केच बनाया, जो उसके साथ हुई दरिंदगी की दास्तान बयां कर रहा था। पीड़िता ने एक कागज पर क्रेयॉन से एक घऱ का स्केच बनाया और इस स्केच में एक लड़की हाथ में गुब्बारे लिए हुए कड़ी थी और उसके पास ही जमीन पर उसकी ड्रेस गिरी हुई थी।

न्यायाधीश ने स्केच को माना पुख्ता सबूत

न्यायाधीश विनोद यादव ने इसे ही एक पुख्ता सबूत माना और फैसला सुनाते हुए कहा, 'अगर इस ड्रॉइंग को तथ्य और केस की परिस्थिति मानी जाए, इससे यह पता चलता है कि उसके कपड़े को उतारकर उसके साथ यौन शोषण हुआ है, इसका उसके दिमाग पर असर हुआ है जो कि सबूत के रूप में पेश हुआ है।' न्यायाधीश ने कहा कि यह स्केच मासूम के साथ हुई दरिंदगी की व्याख्या के लिए पर्याप्त है। न्यायाधीश ने कहा, 'अतः मैं पीड़िता को सक्षम गवाह मानता हूं।'

Share it
Share it
Share it
Top