जीएसटी के बाद 22 राज्यों ने हटाए चेक पोस्ट

जीएसटी के बाद 22 राज्यों ने हटाए चेक पोस्टसाभार इंटरनेट

नई दिल्ली। देश में गुड्स एंड सर्विसेस टैक्स (जीएसटी) लागू होने के बाद पश्चिम बंगाल, दिल्ली, महाराष्ट्र समेत देश के 22 राज्यों से चेक पोस्ट हटा दिए गए हैं। सोमवार को यह जानकारी फाइनेंस मिनिस्ट्री ने दी।

वर्ल्ड बैंक की एक रिपोर्ट के मुताबिक, चेक पोस्ट पर ट्रकों के खड़े रहने के कारण इकोनॉमी को हर साल करीब 2,300 करोड़ रुपए का नुकसान होता है। इतना ही नहीं, उनसे 7,200 करोड़ रुपए तक की अवैध वसूली होती है। हालांकि, यह रिपोर्ट 2005 की है। इस लिहाज से मौजूदा नुकसान काफी ज्यादा होगा। बता दें कि देश में एक जुलाई से जीएसटी लागू कर दिया गया है। मिनिस्ट्री ने कहा- अब इनका कोई मतलब नहीं रह गया था।

फाइनेंस मिनिस्ट्री ने कहा कि एक जुलाई को जीएसटी लागू किया गया था। सिर्फ तीन दिन बाद ही सोमवार को 22 राज्यों ने अपने चेक पोस्ट खत्म कर दिए हैं। जीएसटी सिस्टम में जीएसटी के अलावा कोई कर नहीं होगा। इसमें राज्यों के चुंगी को भी खत्म कर दिया है, जो पहले एक राज्य से दूसरे राज्य की सीमा में सामान (गुड्स) की एंट्री के वक्त लगाई जाती थी। अब इन चेक पोस्ट्स का कोई मतलब नहीं रह गया है।

कहां-कहां बंद हुए चेक पोस्ट

मिनिस्ट्री ने बताया कि अब आंध्र प्रदेश, अरुणाचल प्रदेश, बिहार, गुजरात, कर्नाटक और केरल में कोई चेक पोस्ट नहीं है। वहीं मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, सिक्किम, तमिलनाडु, वेस्ट बंगाल, छत्तीसगढ़, दिल्ली, गोवा, हरियाणा, झारखंड, उड़ीसा, पुड्डुचेरी, राजस्थान, तेलंगाना, उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड से इन्हें हटा दिया गया है। इसके अलावा असम, हिमाचल प्रदेश, मणिपुर, मेघालय, नगालैंड, पंजाब और मिजोरम और त्रिपुरा राज्यों से चेक पोस्ट खत्म करने के लिए काम जारी है।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Share it
Share it
Top