शहीदों के परिवारवालों को ऑनलाइन दान के लिए अक्षय कुमार ने शुरू की वेबसाइट 

शहीदों के परिवारवालों को ऑनलाइन दान के लिए अक्षय कुमार ने शुरू की वेबसाइट दिल्ली में शौर्य दिवस के मौके पर भारत के वीर वेबसाइट व ऐप को लॉन्च करते गृहमंत्री राजनाथ सिंह, साथ में अभिनेता अक्षय कुमार

नई दिल्ली (भाषा)। गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल के ड्यूटी के दौरान शहीद हुए जवानों के परिजनों को ऑनलाइन आर्थिक मदद पहुंचाने की सुविधा का रविवार को उद्घाटन किया। शहीद जवानों के परिजनों को वेबपोर्टल और मोबाइल ऐप के जरिये ऑनलाइन दान दिया जा सकेगा। इसके लिए सिंह और फिल्म अभिनेता अक्षय कुमार ने रविवार को यहां आयोजित एक कार्यक्रम में ‘भारत के वीर’ नामक पोर्टल और मोबाइल ऐप लॉन्च किया।

केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) द्वारा आयोजित कार्यक्रम में राजनाथ ने अपने संबोधन में कश्मीर के हालात पर चिंता जताते हुए कहा कि कुछ भटके हुए लोग सेना के जवानों पर पथराव करते हैं लेकिन देश उन जवानों को सलाम करता है जो पथराव करने वालों को बाढ़ जैसी मुसीबत से बचाते हैं। इस मौके पर कहा कि कोई जवान या अधिकारी शहीद होता है तो किसी भी सूरत में एक करोड़ से कम की धनराशि उसके परिवार के लोगों को नहीं मिलनी चाहिए।

वहीं अक्षय कुमार ने कहा कि अर्द्धसैनिक बल के जवानों की शहादत के बाद उनके परिवार को आर्थिक मदद पहुंचाने के लिए ऑनलाइन दान दिया जा सकेगा।

गृह मंत्रालय ने अक्षय कुमार के सुझाव पर यह वेबसाइट और ऐप तैयार किया है। उन्होंने सरकार को परामर्श दिया था कि सीमा या आंतरिक सुरक्षा में तैनाती के दौरान शहीद हुए सशस्त्र बल के जवानों का ऑनलाइन ब्यौरा सार्वजनिक होना चाहिए जिसकी मदद से कोई भी व्यक्ति शहीद जवान के परिवार को मदद मुहैया करा सके।

वेबपोर्टल और मोबाइल ऐप पर शहीद जवानों की सूची और उनके परिजनों से संपर्क कायम करने के लिए पूरी जानकारी मौजूद रहेगी। इसमें शहीद के किसी एक परिजन का बैंक खाता नंबर भी शामिल होगा जिससे कोई भी दानदाता बैंक खाते में सीधे राशि जमा करा सके। वेबसाइट पर शहीद हुए सैनिक की शहादत से जुड़े अभियान की जानकारी भी दर्ज होगी।

किसी भी परिजन के बैंक खाते में सहायता राशि जमा कराने की अधिकतम सीमा 15 लाख रुपए तय की गई है। यह सीमा पूरी होते ही संबद्ध शहीद के परिजनों की जानकारी वेबसाइट से स्वत: हट जाएगी।

Share it
Top